संजीवनी टुडे

पूर्व एमएलसी डॉ. वाईडी सिंह का निधन, मुख्यमंत्री ने जताया शोक

संजीवनी टुडे 15-06-2019 12:43:33

पूर्व एमएलसी और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रख्यात बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. वाईडी सिंह का शनिवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 63 वर्ष के थे। भाजपा से जुड़े होने के अलावा वह गोरक्षपीठ और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करीबियों में से थे।


गोरखपुर। पूर्व एमएलसी और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रख्यात बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. वाईडी सिंह का शनिवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 63 वर्ष के थे। भाजपा से जुड़े होने के अलावा वह गोरक्षपीठ और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करीबियों में से थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके निधन पर गहरा शोक जताया है। 

मूल रूप से बस्ती जनपद के कसियापुर हर्रेया के रहने वाले डॉक्टर वाईडी सिंह ने जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज कानपुर से एमबीबीएस और एमडी की पढ़ाई की थी। वर्ष 2004 में बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य पद से सेवानिवृत्त होने के पहले व वहीं बाल रोग विभाग के 14 साल तक विभागाध्यक्ष भी रहे। बेहद मृदुभाषी डॉक्टर वाईडी सिंह के परिवार में बेटा, बेटी, पत्नी और एक पौत्र है। बेटे का बस्ती के दुबौलिया में इंटरमीडिएट कॉलेज है। परिवार के लोग अंतिम संस्कार के लिए भोपाल में रहने वाली बेटी के आने का इंतजार कर रहे हैं। 

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, दो दिन पहले डॉक्टर वाईडी सिंह को हाई बीपी होने पर शहर के एक अस्पताल में ले जाया गया था। वहां इलाज के बाद व ठीक हो कर घर आ गये थे। शुक्रवार रात उन्होंने अपने करीबियों से सिर में भारीपन की शिकायत की थी। शनिवार सुबह 5:30 बजे दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। 

गौ सदन के लिए दान की थी बेशकीमती जमीन
बस्ती जनपद में गौ सदन खोलने के लिए डॉक्टर वाईडी सिंह ने कुछ दिन पहले अपनी तीन एकड़ से ज्यादा बेशकीमती जमीन दान की थी। उन्होंने गौ सदन खोलने के लिए भूमि पूजन भी किया था।

मुख्यमंत्री ने बताया अपूर्णीय क्षति
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व विधान परिषद सदस्य व सुप्रसिद्ध बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. वाईडी सिंह के आकस्मिक निधन पर दुख जताते हुए शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि डॉक्टर वाईडी सिंह का जाना पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक लोकप्रिय जन नेता और    ख्यातिलब्ध बाल रोग विशेषज्ञ को खोना है। यह एक अपूर्णीय क्षति है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉ. वाईडी सिंह बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के बाल रोग विभाग को एक नई ऊंचाई तक पहुंचाने का कार्य से लेकर बीआरडी मेडिकल कालेज के समग्र विकास के लिए बेहतर प्रयास करते रहते थे। वे प्रदेश के सुप्रसिद्ध बाल रोग विशेषज्ञ के साथ एक लोकप्रिय जन नेता भी थे। उनका आकस्मिक निधन चिकित्सा सेवा और समाज सेवा की अपूर्णीय क्षति है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति की प्रार्थना की है।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended