संजीवनी टुडे

मुरैना में चंबल में बाढ, 89 गांव पानी से गिरे, 35 को खाली कराया

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 16-09-2019 15:47:12

कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के चलते मध्यप्रदेश के मुरैना में चंबल खतरे के निशान से पांच मीटर ऊपर बह रही है, इसके चलते मुरैना, अंबा और पोरसा के 89 गांव पानी से घिर गए हैं। प्रशासन ने बाढ़ की आशंका के मद्देनजर 35 गांवों को खाली करा लिया गया है।


मुरैना। राजस्थान के कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के चलते मध्यप्रदेश के मुरैना में चंबल खतरे के निशान से पांच मीटर ऊपर बह रही है, इसके चलते मुरैना, अंबा और पोरसा के 89 गांव पानी से घिर गए हैं। प्रशासन ने बाढ़ की आशंका के मद्देनजर 35 गांवों को खाली करा लिया गया है।

यह खबर भी पढ़े:  तारिगामी को कश्मीर जाने की इजाजत, राज्य की स्थिति रिपोर्ट केंद्र से मांगा

आधिकारिक जानकारी के अनुसार कोटा बैराज से लगातार पानी छोड़े जाने के चलते मुरैना में चंबल अपने खतरे के निशान 138 मीटर के मुकाबले पांच मीटर ऊपर 143 मीटर पर बह रही है। इसके चलते मुरैना अनुविभाग, अंबा और पोरसा के 89 गांव चंबल के पानी से घिर गए हैं। प्रशासन ने बाढ़ की आशंका के मद्देनजर 35 गांव को खाली करा लिया है। यहां के लोगों को प्रशासन ने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है।

बाढ़ की संभावना के मद्देनजर जिला प्रशासन ने सेना बुला ली है। आज सुबह एक बार फिर कोटा बैराज से 6 लाख 55 हजार क्यूसेक पानी फिर चंबल में छोड़ा गया है। इससे चंबल का जलस्तर बढ़ने की संभावना जताई गयी है। जिला प्रशासन बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों निगरानी बनाए हुए हैं। 

वहीं राहत एवं बचाव कार्य में जुटे सेना के जवान बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को मोटर वोट से निकाल कर सुरक्षित स्थानाें पर पहुंचा रहे हैं। जिले के दिमनी विधानसभा क्षेत्र के विधायक गिर्राज दंडोतिया भी जिला प्रशासन के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य में लगे हुए हैं।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended