संजीवनी टुडे

कर्ज में डूबे पिता ने छोड़ा गांव, 18 साल बाद बेटे ने चुकाए 55 लाख

संजीवनी टुडे 07-06-2019 12:00:33

पिता के सिर पर चढ़ा करीब 55 लाख का कर्ज बेटे ने 18 साल बाद उतार दिया।


रावतसर। राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के रावतसर में एक अनोखा समक्ष आया है। यहां पिता के सिर पर चढ़ा लगभग 55 लाख का कर्ज पुत्र ने 18 साल बाद उतार दिया। रावतसर के व्यापारियों ने उसके पुत्र की इस ईमानदारी का आदर किया एवं प्रशस्ति पत्र दिया।

hgfh

दरअसल, साल 2001 में रावतसर की धानमंडी की एक फर्म जमालिया ट्रेडिंग कंपनी घाटे में चली गई। इसके मालिक मीताराम जमालिया ने अनेक लोगों से कर्ज लिया था। मजबूरन उसे परिवार संग अपने ग्राम को छोड़ना पड़ा। उस समय उसके पुर्त्र संदीप कुमार जमालिया की उम्र 12 वर्ष थी। 

राजस्थान से नेपाल चले गए थे पिता 
संदीप अभी दिल्ली के करोलबाग में निवास करते है। उनका कहना है कि, "12 वर्ष पूर्व हमारा परिवार रावतसर से दिल्ली आ गया था। फिर पिताजी पड़ोसी देश नेपाल चले गए। वहां किराने की दुकान खोल ली। मैं और मेरा भाई एक मोबाइल की दुकान पर जॉब करने लगे।"

संदीप के मुताबिक, "रावतसर से जाने के 6 वर्ष के पश्चात मेरे पिता का दिल का दौरा पड़ने की वजह से मृत्यु हो गई।"

hgfh

"मोबाइल का कारोबार काफी जम गया। मैंने अपने भाई की मदद से काफी पूंजी एकत्रित की एवं 18 साल बाद रावतसर आया। यहां आकर धानमंडी के व्यापारियों को उनके लिए गए  पैसे लौटाए।" 

रावतसर के व्यापारियों ने संदीप की इस ईमानदारी की काफी तारीफ की। उन्होंने एक कार्यक्रम कर सम्मानित किया।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From state

Trending Now
Recommended