संजीवनी टुडे

ईओ खुदकुशी मामला: आरोपी चेयरमैन ने कहा, मेरे परिवार की सदस्य की तरह थीं मणिमंजरी

संजीवनी टुडे 09-07-2020 16:16:29

ईओ मणि मंजरी खुदकुशी मामले के आरोपी मनियर नगर पंचायत के चेयरमैन भाजपा नेता भीम गुप्ता ने मीडिया के सामने रोते हुए कहा कि महिला अधिकारी मेरे परिवार की सदस्य की तरह थीं।


बलिया। ईओ मणि मंजरी खुदकुशी मामले के आरोपी मनियर नगर पंचायत के चेयरमैन भाजपा नेता भीम गुप्ता ने मीडिया के सामने रोते हुए कहा कि महिला अधिकारी मेरे परिवार की सदस्य की तरह थीं। उधर, समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव ने इस प्रकरण की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

6 जुलाई की रात मनियर नगर पंचायत की अधिशाषी अधिकारी गाजीपुर के कानुवान के रहने वाली मणि मंजरी राय के अपने किराए के फ्लैट में आत्महत्या करने के मामले में बुधवार को नगर पंचायत के चेयरमैन भीम गुप्ता समेत पांच के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में टेंडर को लेकर ईओ पर दबाव डाले जाने की बातें चल रही हैं। वहीं मुकदमा दर्ज होने के बाद मनियर नगर पंचायत के चेयरमैन भीम गुप्ता ने अपने को भाजपा नेता बताते हुए मीडिया के सामने बिलख पड़े। जो सोशल मीडिया में वायरल भी हुआ है। 

मीडियाकर्मियों से कहा कि मणि मंजरी मेरे परिवार की सदस्य की तरह थीं। अपने ऊपर दर्ज मुकदमे के संबंध में कहा कि उनका परिवार हमारे साथ है। कुछ लोगों के बहकावे में आकर वे ऐसा कर सकते हैं। इस घटना से जितना आघात उनके पिता को लगा है, उससे कम आघात मुझे भी नहीं लगा है। कहा कि वे बहुत बहादुर अधिकारी थीं। उनकी कोई अपनी पारिवरिक समस्या रही होगी जिसे हमसे शेयर नहीं कर पायीं।

उधर, समाजवादी पार्टी की जिला इकाई ने मनियर नगर पंचायत की ईओ मणि मंजरी राय की आत्महत्या की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। इस सम्बंध में पार्टी के जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव ने गुरुवार को प्रेस को जारी अपने बयान में कहा कि मृतक ईओ के परिवार के सदस्यों द्वारा दर्ज कराए गए प्राथमिकी में उल्लिखित बिंदुओं को संज्ञान में लेकर इस घटना की जांच किसी निष्पक्ष एजेंसी से करानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह घटना कोई साधारण आत्महत्या नहीं है, बल्कि एक होनहार और पढ़ी-लिखी उच्च पदस्थ अधिकारी की आत्महत्या है। इससे प्रदेश सरकार की कार्यपद्धति पर भी सवाल उठ रहा है  जब एक अधिकारी अपने कर्तव्यों को ईमानदारी से निर्वहन करने के कारण सुरक्षित नहीं है और आत्महत्या जैसा कदम उठा सकता है तो प्रदेश के आमजन के क्या हाल होगा। श्री यादव ने अपने बयान में कहा कि मणि मंजरी राय के सुसाइड नोट एवं उनके परिवार द्वारा दर्ज प्राथमिकी में उल्लिखित एक-एक बिंदु की जांच होना चाहिए। ताकि सच उजागर हो सके और दोषी बेनकाब हों। 

यह खबर भी पढ़े: बिहार चुनाव से पहले लालू यादव को मिल जाएगी जमानत: तेजस्वी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended