संजीवनी टुडे

ऊर्जा मंत्री ने किया प्रान्तीय विद्युत मण्डल मजदूर फैडरेशन के प्रतिनिधियों से संवाद, इस 29 बिन्दुओं पर....

संजीवनी टुडे 09-10-2019 19:24:48

प्रान्तीय विद्युत मण्डल मजदूर फैडरेशन, राजस्थान इंटक द्वारा कर्मचारियों की मांगो और समस्याओं के निराकरण के लिए दिये गये मांग पत्र पर ऊर्जा मंत्री ड़ाॅ बी.डी. कल्ला की अध्यक्षता में बुधवार को विद्युत भवन में फैडरेशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित हुई।


जयपुर। प्रान्तीय विद्युत मण्डल मजदूर फैडरेशन, राजस्थान इंटक द्वारा कर्मचारियों की मांगो और समस्याओं के निराकरण के लिए दिये गये मांग पत्र पर ऊर्जा मंत्री ड़ाॅ बी.डी. कल्ला की अध्यक्षता में बुधवार को विद्युत भवन में फैडरेशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित हुई। बैठक में प्रमुख शासन सचिव (ऊर्जा) श्री कुंजी लाल मीणा, विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी श्री पी. रमेश, जयपुर डिस्काॅम के प्रबंध निदेशक, श्री ए.के. गुप्ता, अजमेर डिस्काॅम के प्रंबध निदेशक श्री वी.एस. भाटी, जोधपुर डिस्काॅम के प्रंबध निदेशक श्री अविनाश सिंघवी, सचिव प्रशासन, मुख्य कार्मिक अधिकारी के साथ ही फैडरेशन के 20 से अधिक प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़े: भारतीय स्टेट बैंक का ऋण हुआ सस्ता, नई दरे 10 अक्टूबर से प्रभावी

ड़ाॅ कल्ला ने बैठक में संगठन के प्रतिनिधियों द्वारा रखे गये मांग पत्र के 29 बिन्दुओं पर बिन्दुवार चर्चा करते हुए कुछ बिन्दुओं पर अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने एवं शेष बिन्दुओं पर परीक्षण कर अवगत कराने के निर्देश प्रदान किये। उन्होंने कहा कि श्रमिकों एवं कर्मचारियों से जुडे प्रकरणों एवं उनकी समस्याओं पर सरकार की पूरी नजर है तथा उनके समाधान के लिए सत्त प्रयास किये जा रहे है। इसके साथ ही ड़ाॅ कल्ला ने फैडरेशन के पदाधिकारियों को आश्वस्त किया कि सभी मुद्दों एवं समस्याओं पर गुणावगुणों के आधार पर परीक्षण कर सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हुए निराकरण कराये जाने के प्रयास किये जाएगें।

VIDHUT

ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये की जब भी ‘‘शटडाउन‘‘ लिया जाये उस समय एक जिम्मेंदार अधिकारी की मौके पर उपस्थिति सुनिश्चित की जाये। बैठक में अवगत कराया कि फील्ड में कार्य करने वाले सभी तकनीकी कर्मचारी को सुरक्षा के लिए अपनाये जाने वाले तरीकों के बारें में पूरी जानकारी हो, इसके लिए पांचों कंपनियों के स्तर पर उनकों समया आवश्यक प्रशिक्षण दिया जा रहा है तथा आगे भी इस तरह के प्रशिक्षण जारी रहेंगें। प्रमुख शासन सचिव (ऊर्जा) श्री कुंजी लाल मीणा ने बताया कि कंपनियों के जिन कार्मिकों को भत्ता मिलता है, उनके लिए ड्रेस कोड में ‘‘स्काईब्लू‘‘ शर्ट एवं काली पेंट की वर्दी निर्धारित किए जाने पर भी सहमति जताई गई। 

इसके साथ ही तकनीकी कर्मचारियों की सुरक्षा एवं विद्युत दुर्घटनाओं के रोकथाम हेतु पांचो कंपनियों द्वारा उच्च क्वालिटी के सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाये जायेंगें। प्रान्तीय विद्युत मण्डल मजदूर फैडरेशन, राजस्थान (इन्टक) के प्रतिनिधियों ने सरकार द्वारा कर्मचारियों की समस्याओं को हल करने के संबंध में की गई इस पहल का स्वागत किया।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended