संजीवनी टुडे

ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने के किये जायंगे प्रयास-पायलट

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 11-09-2019 21:53:49

पायलट ने कहा है कि राज्य में ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध, सामाजिक रूप से सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने हेतु बहुआयामी प्रयास किये जायेगें


जयपुर। राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि राज्य में ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध, सामाजिक रूप से सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने हेतु बहुआयामी प्रयास किये जायेगें ताकि वे परिवार एवं समाज के साथ-साथ विकास की धुरी बन सकें।

यह खबर भी पढ़ें: ​वित्त मंत्री की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के बजाय बहाने बनाने में अधिक रूचि : कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री पायलट आज यहां राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद् की राज्य परियोजना प्रबन्धन ईकाई के तत्वावधान में चौपाल ग्रामीण प्रशिक्षण संस्थान में स्वंय सहायता समूह उत्पाद विक्रय के लिए प्रथम ’’चौपाल राजीविका स्टोर’’ एवं ’’गांधी ज्ञान केन्द्र’’ का उद्धाटन करने के पश्चात्त प्रदेश के समस्त जिलों से आई स्वंय सहायता समूहों, महिला संगठनों के पदाधिकारियों एवं सखियों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि यदि ग्रामीण महिलाओं को सही मार्गदर्शन एवं प्रशिक्षण दिया जाये तो उनकी रचनात्मकता का उपयोग न केवल रोजगार के वैकल्पिक स्त्रोत विकसित करने में किया जा सकता है बल्कि ग्रामीण जीवन को समृद्व एवं खुशहाल बनाने में किया जा सकता है।

पायलट ने कहा कि चौपाल राजीविका स्टोर की शुरूआत ग्रामीण महिलाओं के स्वंय सहायता समूहों द्वारा तैयार विभिन्न उत्पादों के विक्रय के लिए बिचौलिया मुक्त विस्तृत बाजार उपलब्ध करवाने एवं उनके उत्पादों का सही मूल्य दिलवाने के लिए की गई है।

उन्होंने कहा कि राज्य में एक लाख 32 हजार महिला स्वयं सहायता समूह सक्रिय हैं। राज्य सरकार का प्रयास रहेगा कि इन महिला स्वंय सहायता समूहों के द्वारा हस्तनिर्मित उत्पादों की संख्या एवं गुणवत्ता में और बढ़ोतरी हो ताकि इनके द्वारा तैयार उत्पाद बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के मुकाबले में लाकर विश्व स्तर पर पहचान दिलाने एवं इन्हें मिलने वाली सुविधाओं, ऋण एवं साख सुविधाओं का विस्तार एवं उत्पाद को बढावा देने के लिए राज्य सरकार हर संभव कदम उठायेगी।

समारोह की अध्यक्षता करते हुए परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजीविका के माध्यम से प्रदेश की ग्रामीण महिलाओें के सशक्तिकरण की दिशा में अभिनव प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार के स्वंय सहायता समूह प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में चलाये जा रहे हैं उसी तर्ज पर शहरों की कच्ची बस्तियों में रहने वाली महिलाओं के आर्थिक उत्थान के लिये समूह बनाने पर भी ध्यान देना होगा।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended