संजीवनी टुडे

लॉकडाउन के दौरान पश्चिम रेलवे ने माल यातायात से हासिल की 2667 करोड़ रु. की आमदनी

संजीवनी टुडे 28-07-2020 15:58:47

समूची दुनिया में जनजीवन को प्रभावित करने वाली महामारी कोरोनावायरस के कारण हमारा देश भी सबसे कठिन समय का सामना कर रहा है।


मुंबई। समूची दुनिया में जनजीवन को प्रभावित करने वाली महामारी कोरोनावायरस के कारण हमारा देश भी सबसे कठिन समय का सामना कर रहा है। पूर्ण लॉकडाउन और वर्तमान परिदृश्य के दौरान परिवहन और श्रम की सबसे कठिन चुनौतियों के बावजूद, पश्चिम रेलवे ने अपनी लोडिंग गतिविधियों को लगातार जारी रखा है। इसी क्रम में देवास से नागपुर के लिए एक और विशेष ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया है। ट्रेन संख्या 00931 देवास - नागपुर पार्सल विशेष ट्रेन 28 जुलाई, 2020 को 20.00 बजे देवास से प्रस्थान करेगी और अगले दिन 06.30 बजे नागपुर पहुंचेगी। यह ट्रेन भोपाल और इटारसी जंक्शन स्टेशनों पर रुकेगी।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, 22 मार्च, 2020 से लागू पूर्ण लॉकडाउन और वर्तमान आंशिक लॉकडाउन के दौरान कठिनतम परिस्थितियों और विकट चुनौतियों के बावजूद, पश्चिम रेलवे ने 26 जुलाई, 2020 तक मालगाड़ियों के 10,292 रेक लोड करके काफी सराहनीय कार्य किया है, जिसके फलस्वरूप 2667 करोड़ रु. से अधिक की आमदनी हुई है। विभिन्न स्टेशनों पर श्रमशक्ति की कमी के बावजूद पश्चिम रेलवे द्वारा अपनी मालवाहक ट्रेनों के जरिये देश भर में अत्यावश्यक सामग्री का परिवहन बखूबी सुनिश्चित किया जा रहा है। इनमें पीओएल के 1107, उर्वरकों के 1727, नमक के 5559, खाद्यान्नों के 105, सीमेंट के 794, कोयले के 409, कंटेनरों के 4877 और सामान्य माल के 48 रेकों सहित कुल 20.98 मिलियन टन भार वाली विभिन्न मालगाड़ियों को उत्तर पूर्वी क्षेत्रों सहित देश के विभिन्न राज्यों में भेजा गया। इनके अलावा मिलेनियम पार्सल वैन और मिल्क टैंक वैगनों के विभिन्न रेक दवाइयों, चिकित्सा किट, जमे हुए भोजन, दूध पाउडर और तरल दूध जैसी विभिन्न आवश्यक वस्तुओं की मांग के अनुसार आपूर्ति करने के लिए उत्तरी और उत्तर पूर्वी क्षेत्रों में भेजे गये। कुल 20,178 मालगाड़ियों को अन्य जोनल रेलों के साथ इंटरचेंज किया गया, जिनमें 10,082 ट्रेनें सौंपी गईं और 10,096 ट्रेनों को पश्चिम रेलवे के विभिन्न इंटरचेंज पॉइंटों पर ले जाया गया। इस अवधि के दौरान जम्बो के 1338 रेक, BOXN के 678 रेक और BTPN के 574 रेकों सहित विभिन्न महत्वपूर्ण आवक रेकों की अनलोडिंग पश्चिम रेलवे के विभिन्न स्टेशनों पर मजदूरों की कमी के बावजूद सुनिश्चित की गई।

ठाकुर ने बताया कि 23 मार्च, 2020 से 26 जुलाई, 2020 तक लगभग 85 हजार टन वजन वाली अत्यावश्यक सामग्री का परिवहन पश्चिम रेलवे द्वारा अपनी 425 पार्सल विशेष गाड़ियों के माध्यम से किया गया है, जिनमें कृषि उत्पाद, दवाइयां, मछली, दूध आदि मुख्य रूप से शामिल हैं। इस परिवहन के माध्यम से होने वाली कमाई 27.07 करोड़ रुपये रही है। इस अवधि के दौरान 64 मिल्क स्पेशल गाड़ियों को पश्चिम रेलवे द्वारा चलाया गया, जिनमें 48 हजार टन से अधिक का भार था और वैगनों के 100% उपयोग से लगभग 8.33 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ। इसी प्रकार, 30,000 टन से अधिक भार वाली 346 कोविड -19 विशेष पार्सल ट्रेनें भी विभिन्न आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए चलाई गईं, जिनके द्वारा अर्जित राजस्व 15.41 करोड़ रुपये से अधिक रहा। इनके अलावा, 6493 टन भार वाले 15 इंडेंटेड रेक भी लगभग 100% उपयोग के साथ चलाए गए, जिनसे 3.33 करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ। पश्चिम रेलवे ने देश के विभिन्न हिस्सों में समयबद्ध पार्सल विशेष रेलगाड़ियों को चलाने का सिलसिला लगातार जारी रखा है। इनमें से एक पार्सल स्पेशल ट्रेन पश्चिम रेलवे से 27 जुलाई, 2020 को पोरबंदर से शालीमार के लिए रवाना हुई।

लॉकडाउन के कारण नुकसान और रिफंड अदायगी : कोरोना वायरस के कारण पश्चिम रेलवे पर कमाई का कुल नुकसान 1891.50 करोड़ रुपये से अधिक रहा है, जिसमें उपनगरीय खंड के लिए 280.31 करोड़ रुपये और गैर-उपनगरीय के लिए 1611.19 करोड़ रुपये का नुकसान शामिल है। इसके बावजूद, 1 मार्च, 2020 से 26 जुलाई, 2020 तक टिकटों के निरस्तीकरण के परिणामस्वरूप पश्चिम रेलवे ने 404.41 करोड़ रुपये के रिफंड की अदायगी सुनिश्चित की है। उल्लेखनीय है कि इस धनवापसी राशि में, अकेले मुंबई मंडल ने 193.78 करोड़ रुपये से अधिक का रिफंड सुनिश्चित किया है। अब तक, 62.15 लाख यात्रियों ने पूरी पश्चिम रेलवे पर अपने टिकट रद्द कर दिए हैं और तदनुसार अपनी रिफंड राशि प्राप्त की है।

यह खबर भी पढ़े: राजस्‍थान कैबिनेट की सिफारिश, राज्‍यपाल 31 जुलाई को ही बुलाएं विधानसभा सत्र

यह खबर भी पढ़े: तृणमूल नेता जगन्नाथ रॉय ने बैंक में घुसकर कर्मियों के साथ की बदसलूकी, वीडियो वायरल

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended