संजीवनी टुडे

छिपोल में लोग नदी का पानी पीने को मजबूर

संजीवनी टुडे 18-07-2019 13:08:42

छिपोल में लोग नदी का पानी पीने को मजबूर


बारां। बारां जिले के शाहबाद ब्लॉक के छिपोल गांव में सहरिया परिवार नदी का गंदा पनी पीने को मजबूर है। गांव में लगे हैंडपंप खराब हैं। यदि ये ठीक भी रहे तो इनमें खारा पानी आता है। लिहाजा इन परिवारों को शुद्ध पेयजल नहीं मिल पा रहा है। 

ग्रामीण रानी बाई, भंवरकली, विमला, सविदा बाई ने बताया कि गांव में दो हैंडपंप लगे हुए हैं। दोनों ही खराब हैं। इस कारण गांव में पीने का पानी नहीं है। गांव के पास में होकर नदी निकल रही है। उसी नदी में खोदी गई झिरी से ही पानी लाकर प्यास बुझा रहे हैं। नदी में गंदा पानी आ जाने के कारण इसी पानी को पीना पड़ता है। महिलाएं व बच्चे नदी में अपनी जान जोखिम में डालकर पानी में होकर उस झिरी तक पहुंचते हैं। उसके बाद उसमें से पानी भरकर गांव में घरों तक लाते हैं। बारिश में नदी में ज्यादा पानी की आवक हो जाने के बाद पानी लाना मुशिकल हो जाएगा। फिर तो नदी का गन्दा पानी ही भरना पड़ता है। 

सहरिया समुदाय के लोगों ने बताया कि कई बार ग्राम पंचायत को अवगत कराने के बाद भी पीने के पानी की व्यवस्था नहीं की गई। जाग्रत महिला संगठन की कल्ली बाई, शकुंतला बाई तथा फूलवती बाई ने बताया कि पिछले दिनों में हमने इस गांव में सहरिया समुदाय के साथ बैठक की थी। इसमें महिलाएं भी उपस्थित थीं। पूरी गर्मी निकल गयी मगर इस गांव में अभी तक भी पीने के पानी की व्यवस्था नहीं हुई है। इस सम्बंध में संगठन की महिलाओं ने ग्राम पंचायत सरपंच से बात की तो उन्होंने बताया कि हैंडपंपों में खारा पानी होने के कारण इनको ठीक नहीं करवाया गया है। 

एक नई टयूबवेल का प्रस्ताव बनाकर भेज रखा है। जैसे ही पास होकर आएगा टयूबवेल लगा दी जावेगी। मगर अभी भी गांव के लोगों की पानी की समस्या का समाधान नहीं हुआ है। संगठन की महिलाओं ने विकास अधिकारी शाहबाद से छिपोल में पीने के पानी की व्यवस्था करवाने की मांग की है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended