संजीवनी टुडे

पतंजलि विवि में अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण के प्रामाण पत्र वितरित

संजीवनी टुडे 25-05-2019 20:05:21


हरिद्वार। पतंजलि विश्वविद्यालय में सत्र 2017-18 के अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण केन्द्र में पंजीकृत प्रमाण पत्रीय पाठ्यक्रम में पंजीकृत उत्तीर्ण छात्रों को पतंजलि विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति डॉ. महावीर अग्रवाल द्वारा शनिवार को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। 

इस अवसर पर पतंजलि विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति एवं अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण केन्द्र के केन्द्राध्यक्ष डॉ. महावीर अग्रवाल ने छात्रों को केन्द्र द्वारा संचालित दक्षता प्रमाण-पत्र में सम्मिलित होने की प्रेरणा देते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति की प्राण है संस्कृत।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

इसलिए संस्कृत का अध्ययन केवल रोजगार के लिए ही नहीं, अपितु भारतीय विरासत को जानने के लिए एवं उसे संरक्षित करने के लिए करना नितांत आवश्यक है। इस अवसर पर अनौपचारिक संस्कृत शिक्षण केन्द्र के संयोजक डॉ. विपिन कुमार द्विवेदी एवं केन्द्र शिक्षक विवेक कुमार पाण्डेय उपस्थित रहे। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended