संजीवनी टुडे

चुनाव आयोग जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर, राजनीतिक दलों, राज्य प्रशासन से किया विचार विमर्श

संजीवनी टुडे 04-03-2019 22:19:08


जम्मू। मुख्य चुनाव आयुक्त(सीईसी) सुनील अरोड़ा के नेतृत्व में भारतीय चुनाव आयोग(ईसीआई) का एक उच्च-स्तरीय प्रतिनिधिमंडल आने वाले 2019 के चुनावों से पहले विभिन्न राजनीतिक दलों, राज्य प्रशासन और अन्य हितधारकों के साथ परामर्श के लिए जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को श्रीनगर पहुंचा। चुनाव आयोग की टीम ने कश्मीर घाटी पहुंच कर वहां के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से चुनावों के बारे में राय ली। बैठक के दौरान चुनाव आयुक्त सुशील चंद्र और अशोक लवासा, उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना, महानिदेशक ईसीआई दिलीप कुमार, एडीजी शेफाली शरण, निदेशक निखिल कुमार, मुख्य निर्वाचन अधिकारी जम्मू-कश्मीर शैलेन्द्र कुमार उपस्थित रहे।

इस दौरान चुनाव आयोग ने नेशनल कॉन्फ्रेंस(नेकां), पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी(पीडीपी), भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस(आईएनसी), भारतीय जनता पार्टी(भाजपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी सीपीआई(एम), पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट(पीडीएफ), डेमोक्रेटिक पार्टी नेशनलिस्ट(डीपीउन), नेशनल पैंथर्स पार्टी(एनपीपी), बहुजन समाज पार्टी(बीएसपी), सीपीआई, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(एनसीपी) और अवामी इतिहाद पार्टी(एआईपी) के प्रतिनिधिमंडल के साथ विचार-विमर्श किया।

सीईसी ने इस दौरान सबको सुना और आश्वासन दिया कि समय की उचित प्रक्रिया में उनका ध्यान रखा जाएगा। इसके बाद ईसीआई टीम ने मंडलायुक्त कश्मीर बसीर अहमद खान, एडीजीपी कानून व्यवस्था मुनीर अहमद खान, आईजीपी कश्मीर एसपी पाणी, लद्दाख संभाग सहित जिला उपायुक्तों और कश्मीर के जिला प्रमुखों सहित सिविल व पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की।

जयपुर में प्लॉट मात्र 260000/- में , 12 माह की आसान किस्तों में कॉल  9314166166
अरोड़ा ने अपनी प्रारंभिक टिप्पणी में कहा कि लोकतंत्र के सिद्धांतों को बनाए रखने के लिए जल्द ही चुनाव होने वाले हैं। आयोग की इच्छा है कि चुनाव आयोजित करवाने में राज्य के लोग पूरा सहयोग करें। ईसीआई टीम ने स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए नागरिक और पुलिस प्रशासन के विभिन्न विभागों की तैयारियों की स्थिति की समीक्षा की। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

चुनाव के दिन बूथों और ईवीएम और मतदान सामग्री के परिवहन और कर्मचारियों की तैनाती के संदर्भ में सीईसी ने तैयारियों की समीक्षा की। आयोग ने राज्य के अधिकारियों को भयमुक्त वातावरण बनाने के लिए कहा।
उप चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना ने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए खर्च की सीमा 70 लाख रुपये और राज्य विधानसभा चुनाव के लिए 28 लाख रुपये है। आयोग ने राज्य प्रशासन से पारदर्शिता को सुनिश्चित करने के लिए राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों जैसे हितधारकों की उपस्थिति में ईवीएम और वीवीपीएटी पर संचालन करने के लिए कहा। ईसीआई की टीम मंगलवार को विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से जम्मू में मुलाकात करेगी। इसके अलावा ईसीआई टीम मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम और डीजीपी दिलबाग सिंह के साथ शीतकालीन राजधानी में अलग से बैठक करेगी। 

More From state

Trending Now
Recommended