संजीवनी टुडे

स्टे ऑर्डर होने के बावजूद शासकीय भूमि पर चल रहा अबैध निर्माण

संजीवनी टुडे 23-03-2019 21:14:14


छतरपुर। नगर के चारों तरफ शासन की पडी बेशकीमती जमीन का रकबा दिन प्रति दिन शिकुडता जा रहा है और प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा मना करने एवं स्टे लगाने के वाबजूद भी दबंगों द्वारा शासकीय भूमि पर अबैध कब्जा कर धड़ल्ले से भवन निर्माण कार्य किये जा रहे हैं। इससे प्रशासनिक अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लग रहे हैं।

ऐसा ही मामला नगर के भगवस्थित द्वारकाधीश वेयर हाऊस के बगल में शासकीय भूमि जिसका खसरा नम्बर.1310/1 है। उस पर खुलेआम चल रहे भवन निर्माण कार्य देखने को मिल रहा है। जानकारी के मुताविक सडे किनारे बेशकीमती शासकीय भूमि पर रामदास पटेल निवासी घुवारा एक बडे रकवा पर कब्जा किये हुए है जो बारी-बारी से इस बेशकीमती जमीन को अन्य लोगों को अबैध तरीके से बेच रहा है। कुछ समय पूर्व इसी शासकीय जमीन का कुछ हिस्सा प्रकाश सिंह घोषी निवासी पनवारी को बेच दी थी। जिसके उपरांत प्रकाश सिंह घोषी द्वारा अबैध भवन निर्माण का कार्य प्रारम्भ कर दिया था। जिसकी शिकायत कुछ लोगों द्वारा तहसीलदार त्रिलोक सिंह पोषाम से की गई थी। तहसीलदार ने तत्काल कार्यवाही करते हुये मौका का निरीक्षण कर निर्माण कार्य बन्द कराकर स्टे ऑर्डर जारी किया था। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

जिसमें कुछ दिन बाद फिर से निर्माण कार्य की सूचना तहसीलदार को लगी जिसमें तहसीलदार ने अबैध भवन निर्माण कार्य बन्द करवाने के लिए घुवारा पुलिस को निर्देशित किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने भवन निर्माण कार्य को बंद करवाने के साथ ही आरोपीगण को काम बंद रखने को लेकर शख्त हिदायत दी गई थी। इसके बाद भी कुछ समय बाद फिर से दबंगों ने पुलिस की शख्त हिदायत एवं तहसीलदार के स्टे ऑर्डर की धज्जियां उडाते हुए शातिराना तरीके से रातों-रात अबैध भवन निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

हाँ, मुझे जानकारी मिली है कि आरोपित प्रकाश सिंह घोषी के द्वारा बार-बार मना करने एवं स्थगन आदेश जारी होने के बावजूद भी रातों-रात भवन निर्माण कार्य किया जा रहा है। जिसके सम्बन्ध में मैं आरोपित प्रकाश सिंह घोषी के द्वारा स्थगन आदेश का उल्लंघन किये जाने पर धारा 188 के तहत कार्यवाही कर जेल भेज दिया जायेगा। 

More From state

Trending Now