संजीवनी टुडे

मीसाबंदियों के संघर्ष से बहाल हुआ लोकतंत्र : शिवराज

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 14-08-2019 15:45:51

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि मीसाबंदियों के संघर्ष के कारण लोकतंत्र फिर से बहाल हुआ और राज्य सरकार का मीसाबंदियों को स्वतंत्रता दिवस समारोह में आमंत्रित नहीं करने का फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है।


भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि मीसाबंदियों के संघर्ष के कारण लोकतंत्र फिर से बहाल हुआ और राज्य सरकार का मीसाबंदियों को स्वतंत्रता दिवस समारोह में आमंत्रित नहीं करने का फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है।

यह खबर भी पढ़े: भाजपा उम्मीदवार नीरज शेखर ने राज्यसभा के लिए किया नामांकन पत्र दाखिल

चौहान ने आज यहां मीडिया से कहा कि लोकतंत्र को बचाने के लिए मीसाबंदियों ने घनघोर यातनाएं सहीं। उनके संघर्ष के कारण लोकतंत्र फिर से बहाल हुआ। उन्होंने कहा कि इसीलिए मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने ऐसे लोगों को सम्मानित करने का फैसला किया था। कमलनाथ सरकार को भी दलगत राजनीति से ऊपर उठकर इसे जारी रखना चाहिए। इस पर रोक लगाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

यह खबर भी पढ़े: यूपी में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हाई अलर्ट जारी

चौहान ने कहा कि मीसाबंदियों का जिक्र आने से पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कटघरे में खड़ी होती हैं। संभवत: इसी के चलते कांग्रेस सरकार ने ये फैसला किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने तय किया है कि अलग-अलग जिलों में होने वाले पार्टी के कार्यक्रमों में उन्हें आमंत्रित कर सम्मान किया जाएगा।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

राज्य में पूर्ववर्ती भारतीय जनता पार्टी सरकार के कार्यकाल के दौरान मीसाबंदियों को स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस समारोह में आमंत्रित किया जाता था। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में मीसाबंदियों को आमंत्रित नहीं किया गया है। चौहान इसी मुद्दे पर टिप्पणी कर रहे थे।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended