संजीवनी टुडे

दिसम्बर तक विद्यालयों को दो पारी में संचालित करने की मांग- धर्मेन्द्र गहलोत

संजीवनी टुडे 02-07-2020 18:28:17

स्कूलो को खोलने मे मास्क की अनिवार्यता के साथ सोशियल डिस्टेंसिंग हेतु दिसम्बर माह तक विद्यालयों को दो पारी में संचालित करने एवं विद्यालय समय को घटाकर चार घण्टे करने की मांग की हैं।


सिरोही। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र गहलोत प्रदेश मुख्यमत्री अशोक गहलोत एवं शिक्षामंत्री गोविन्दसिंह डोटासरा को ज्ञापन भेजकर कोरोना महामारी के मध्य नजर स्कूलो को खोलने मे मास्क की अनिवार्यता के साथ सोशियल डिस्टेंसिंग हेतु दिसम्बर माह तक विद्यालयों को दो पारी में संचालित करने एवं विद्यालय समय को घटाकर चार घण्टे करने की मांग की हैं। 

संघ (प्रगतिशील) के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र गहलोत ने बताया हैं कि राजस्थान सहित देशभर में निरन्तर बढ रहे कोरोना महामारी संक्रमण के खतरे को देखते हुए राज्य सरकार भी राजकीय विद्यालयों को जल्दबाजी में खोलने पर विचार न कर छात्रहित में व्यापक स्तर पर मॉनिटरिंग कर ही विद्यालय खोलने के संदर्भ में कोई फैसला राज्य सरकार को लेना चाहिए। क्योंकि ऐसा प्रतित हो रहा हैं कि कोरोना महामारी संक्रमण निरन्तर बढ रहा है। ऐसे में छात्र-छात्राओं के अभिभावक छात्रों के भविष्य को लेकर पेशोपेश व चिन्ताजनक स्थिति में हैं। 

राज्य सरकार द्वारा 15 अगस्त 2020 अथवा इससे पूर्व जब भी विद्यालयों को खोलने का फैसला ले उससे पूर्व निम्नलिखित बिन्दुओ पर विचार कर कोई निर्णय लेने की संगठन ने दरकार की हैं जिससे संक्रमण का खतरा व्यापक स्तर पर न फैले। 

हालांकि राज्य सरकार ने कोरोना जागरूकता अभियान के माध्यम से कोरोना के प्रति सजगता, सुरक्षा का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया हैं। जब भी विद्यालय खोलने का निर्णय किया जावे तब प्रारम्भ के प्रथम चरण में कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों को 15 दिन तक बुलाने, विद्यालय खोलने के 15 दिनों बाद स्थिति का आकलन कर स्थिति संतोषप्रद होने पर दुसरे चरण में कक्षा 6 से 12 तक के विद्यार्थियों को ही एक माह तक बुलाने, तीसरे चरण में आकलन के बाद स्थिति पूर्ण रूप से संतोषप्रद होने पर कक्षा 1 से 8 तक को प्रथम पारी में एवं कक्षा 9 से 12 तक को द्वितीय पारी में दिसम्बर 2020 तक बुलाने, दो पारी में स्टाफ को भी 50-50 प्रतिशत बांट कर बुलाने, 31 दिसम्बर 2020 तक विद्यालयों की प्रत्येक पारी का समय घटाकर अधिकतम चार घण्टे करने, छात्रों में कोरोना महामारी के भय को देखते हुए पाठ्यक्रम को सत्र पर्यन्त 50 प्रतिशत ही मान्य करवाने, दिसम्बर 2020 तक कोरोना महामारी पर नियन्त्रण की स्थिति में 1 जनवरी 2021 से सभी कक्षाओं को एक साथ पूर्वानुसार संचालित करवाने, खेल पंचांग के अनुसार अगस्त से अक्टुबर तक खेलो के कार्यक्रम को संशोधित करवाकर 1 अक्टुबर से दिसम्बर के मध्य समस्त खेल प्रतियोगिता करवाने सहित मास्क को राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करवाने की मांग की है। 

इन समस्त बिन्दुओं को ध्यान में रखकर दिनांक 30 जुलाई 2020 से पूर्व दिशा निर्देश जारी करवाकर छात्रों, अभिभावकों में असमंजस्य की स्थिति पर विराम लगाकर इसका व्यापक रूप से प्रसार-प्रचार करने की मांग की हैं जिससे नामांकन के घटने पर विराम लगाया जा सके।

यह खबर भी पढ़े: जगदीश देवड़ा को भी CM शिवराज के मंत्रिमण्‍डल में मिली जगह

यह खबर भी पढ़े: सिंधिया की बुआ यशोधरा एक कद्दावर नेता के रूप में रखती हैं अपनी पहचान, एक बार फिर बनी कैबिनेट मंत्री

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended