संजीवनी टुडे

बैंक के बाहर भारी भीड़ होने से राज्यकर्मियों को अलग सुविधा देकर समय पर राजकार्य निर्वहन में सहयोग की मांग

संजीवनी टुडे 11-07-2020 16:34:39

धर्मेन्द्र गहलोत ने महाप्रबन्धक एसबीआई जोनल ऑफिस जयपुर को ज्ञापन भेजकर सिरोही जिले सहित राज्यभर की बैंक के बाहर भारी भीड़ होने से राज्यकर्मियों को अलग सुविधा निर्वहन में सहयोग करवाने की मांग की।


सिरोही / शिवगंज। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र गहलोत ने महाप्रबन्धक एसबीआई जोनल ऑफिस जयपुर को ज्ञापन भेजकर सिरोही जिले सहित राज्यभर की बैंक के बाहर भारी भीड़ होने से राज्यकर्मियों को अलग सुविधा निर्वहन में सहयोग करवाने की मांग की।

संघ (प्रगतिशील) के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र गहलोत ने बताया हैं कि केंद्र सरकार द्वारा बैंक शाखाओं के एकीकरण के बाद ग्राहकों की तादाद बढ़ने से आए दिन भारी भीड़ जमा रहती है। वर्तमान कोरोना काल मे ग्राहकों की कतार और उनके वाहनों से बैंक के बाहर की सड़के भी जाम रहती है। विद्यालय समय में जिस कर्मचारी को राजकीय भुगतान प्राप्त करने चेक लेकर भेजा जाता है उसको कतार में लगने से घण्टों खड़ा रहना पड़ता है। 

चतुर्थ श्रेणी कार्मिक विद्यालय में मुश्किल से एक होता है यदि उसे भेजा जावे तो छुट्टी होने पर विद्यालय बन्द करने को लेकर संकट खड़ा हो जाता है। कई बार कतार में खड़े होने पर भी समय पूरा होने से पुनः लौटकर आना पड़ता है। संस्था प्रधान को भी राजकार्य के बैंक अक्सर जाना पड़ता है जो लाईन में लगकर घक्के खाकर भी धैर्य धारण किये रहते है। 

ग्राहकों के भारी जमावड़े के बीच राजकार्य भुगतान प्राप्त करना किसी दुर्ग को जीतने से भी मुश्किल हो रहा है। कतार में खड़े होकर लघु शंका होने पर कार्य पूर्णता की दीर्घ शंका सताने लगती है ऐसे में हर शंका को दबाकर रखने की मजबूरी सी बन गई है। परीक्षा जैसे महत्वपूर्ण कार्य भी भुगतान के अभाव में डायरी एंट्री आदि को लेकर प्रभावित होने का डर बना रहता है। राजकार्य भुगतान प्राप्ति हेतु बैंक उपस्थित विद्यालय कर्मी को तत्काल अलग से सुविधा देकर सहयोग की मांग की।

यह खबर भी पढ़े: विकास दुबे एनकाउंटर का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

यह खबर भी पढ़े: मुख्यमंत्री गहलोत का भाजपा पर सरकार गिराने के षड़यंत्र का आरोप

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended