संजीवनी टुडे

ग्वालियर व्यापार मेले में होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम, 12 को कवि सम्मेलन

संजीवनी टुडे 11-01-2019 04:18:00


ग्वालियर। ग्वालियर के प्रसिद्ध श्रीमंत माधवराव सिंधिया व्यापार मेले में भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इनमें अखिल भारतीय कवि सम्मेलन, मुशायरा, कब्बाली, सिंगिंग नाईट, बॉलीवुड नाईट, कत्थक एवं क्लासिकल नृत्य, नाटक आदि शामिल हैं। इन सांस्कृतिक कार्यक्रमों में कई विख्यात कलाकार मेले में अपनी प्रस्तुति देंगे। मेले में आगामी 12 जनवरी को अखिल भारतीय कवि सम्मलेन होगा।

जयपुर में प्लॉट/ फार्म हाउस: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में, मात्र 2.30 लाख Call:09314188188

संभागीय आयुक्त एवं ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष बीएम शर्मा ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों को भव्यता प्रदान करने के उद्देश्य से प्रख्यात कलाकारों को आमंत्रित किया है। इन कलाकारों की प्रस्तुति से ग्वालियर मेले में पधारने वाले सैलानियों को भरपूर मनोरंजन और श्रेष्ठ प्रस्तुतियां देखने और सुनने को मिलेंगीं। ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण द्वारा इसके लिये सांस्कृतिक कैलेण्डर तैयार कर जारी किया है। इस कैलेण्डर के माध्यम से तिथिवार कार्यक्रम निर्धारित किए गए हैं।

सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए जारी कैलेण्डर के अनुसार 11 जनवरी को नाटक गोस्वामी तुलसीदास, 12 जनवरी को अखिल भारतीय कवि सम्मेलन, 13 जनवरी को एक शाम बेटियों के नाम (गीत-कविता-डांस-नृत्य), 14 जनवरी को महफिल-ए-शाम, 15 जनवरी को भारतीय लोक नृत्य एवं आर्केस्ट्रा, 16 जनवरी को मैजिक शो एवं सिंगिंग नाईट, 17 जनवरी को मिमिक्री, 18 जनवरी को बुन्देली लोकगीत व लोक नृत्य, 19 जनवरी को अखिल भारतीय मुशायरा, 20 जनवरी को हास्य नाटक, 21 जनवरी को रंग दे बसंती (देशभक्ति गीत), शहीदों की पुकार, 22 जनवरी को सूफी नाईट (जश्न-ए-मेला), 23 जनवरी को कथक एवं कला क्लासिकल नृत्य, 24 जनवरी को एक शाम बेटी है तो कल है, 25 जनवरी को भजन संध्या, 26 जनवरी को बृज सांस्कृतिक लोक नृत्य, 27 जनवरी को बॉलीवुड नाईट, 28 जनवरी को सुगम गायन एवं लोक गायन, 29 जनवरी को स्थानीय कवि सम्मेलन एवं मुशायरा, 30 जनवरी को नाटक रक्तबीज और देश भक्ति गीत एवं सूफी गायन तथा 31 जनवरी को भजन संध्या का आयोजन किया गया है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इसी प्रकार एक फरवरी को दिव्यांग बच्चों की प्रस्तुति, 2 फरवरी को लाफ्टर शो, 3 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम न्यूजीलैण्ड एवं पंजाबी गिद्दा भांगड़ा, 4 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम जर्मनी, 5 फरवरी को कत्थक नृत्य एवं एक शाम सुनहरी यादों के नाम, 6 फरवरी को संगीत संध्या, 7 फरवरी को क्लासिकल नाईट, 8 फरवरी को सतरंगी नृत्य संध्या, 9 फरवरी को संगीत आराधना, 10 फरवरी को नौटंकी परम्परागत, 11 फरवरी को श्रीकृष्ण लीला के सभी पहलू, 16 फरवरी को कथक नृत्य और भाभी जी घर पर हैं, 17 फरवरी को नाटक (नर-नारी), 18 फरवरी को ध्रुपद गायन तथा 19 फरवरी को काव्य संध्या का आयोजन किया गया है। इसके साथ ही मेले में बाल महोत्सव का आयोजन भी किया जा रहा है।

More From state

Trending Now
Recommended