संजीवनी टुडे

नम आंखों से शहीद सीआरपीएफ जवान की पत्नी ने दी अंतिम सलामी

संजीवनी टुडे 15-06-2019 14:54:47

रंगिया में शनिवार सुबह जब पद्मिनी ने अपने पति सीआरपीएफ कॉन्स्टेबल सुनील कलिता को अंतिम सलामी दी, तो पूरा गांव गमगीन हो गया। इसी वर्ष 10 अप्रैल को सुनिल कलिता के साथ पद्मिनी परिणय सूत्र में बंधी थी।


कामरूप। कामरूप(ग्रामीण) जिले के रंगिया में शनिवार सुबह जब पद्मिनी ने अपने पति सीआरपीएफ कॉन्स्टेबल सुनील कलिता को अंतिम सलामी दी, तो पूरा गांव गमगीन हो गया। इसी वर्ष 10 अप्रैल को सुनिल कलिता के साथ पद्मिनी परिणय सूत्र में बंधी थी। दो माह के अल्प समय में पद्मिनी से सुनिल का साथ छूट जाना लोगों को बेहद भावुक कर गया। सुनिल ने देश के लिए अपना सर्वेच्च दिया है। इस बात पर गांव वालों को बेहद गर्व है।

कलिता को सीआरपीएफ के एलीट जंगल-वारफेयर बटालियन के कमांडो बटालियन फॉर रेसोल्यूट एक्शन(कोबरा) की 209वीं बटालियन में तैनात किया गया था। गत 28 मई को झारखंड के सरायकेला जिले में नक्सल विरोधी अभियानों के दौरान एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस(आईईडी) के विस्फोट में सुनिल गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

???

उन्हें पहले रांची के भगवान महावीर मेडिकल सुपर स्पेशियालिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में चार जून को कलिता को दिल्ली ले जाया गया। 13 जून को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) में कलिता ने दम तोड़ दिया। शुक्रवार को तिरंगे में लिपटे कलिता के शव को उनके पैतृक गांव लाया गया।

कमलपुर थानांतर्गत पालरा गांव में जब वीर शहीद का शव पहुंचा तो घर पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों के लोगों ने बहादुर सैनिक के प्रति सम्मान व्यक्त करते हुए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। आंखों में आंसू लिए लोगों ने ’जय हिंद’ और 'सुनील कलिता अमर रहे' के नारे लगाए। 

कलिता के निवास पर मौजूद सभी लोग उस समय बेहद भावुक हो गए, जब पद्मिनी ने अपने पति के पार्थिव शरीर को सलामी दी। कलिता का अंतिम संस्कार शनिवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया। इस दौरान अंतिम दर्शन को उमड़ी भीड़ ने शहीद के पार्थिव शरीर पर पुष्प वर्षा की। 

सीआरपीएफ जवान कलिता का जन्म 01 फरवरी,1987 को हुआ था। वह 2011 में गुवाहाटी में सीआरपीएफ में शामिल हुए थे। 2016 में वह झारखंड के खुल्ती जिले में 209वीं कोबरा बटालियन में शामिल हुए। शरीह जवान अपने पीछे माता-पिता, पत्नी, छोटी बहन और भाई को छेड़ गए हैं।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended