संजीवनी टुडे

सस्ती कृषि भूमि दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी

संजीवनी टुडे 11-03-2019 21:53:43


नई दिल्ली। सस्ती कृषि भूमि दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले शातिर ठग को क्राइम ब्रांच ने निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान भोपाल(मध्य प्रदेश) निवासी कुलदीप खरे के रूप में हुई है। कुलदीप ने पीतमपुरा के एक कारोबारी को मध्य प्रदेश के बेतुल में 100 एकड़ कृषि भूमि सस्ते दाम पर दिलाने का झांसा देकर 1.6 करोड़ रुपये रुपये वसूल लिए थे। वह दो साल पहले जेल से अंतरिम बेल पर बाहर आया था लेकिन वापस जेल नहीं लौटा। उसकी गिरतारी पर पुलिस ने 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया हुआ था। 

मात्र 4.25 लाख में प्लॉट जयपुर आगरा रोड पर 9314301194

क्राइम ब्रांच के डीसीजी राम गोपाल नाईक ने बताया कि पीतमपुरा के रहने वाले करोबारी राजेश कुमार ने 31 अक्टूबर 2015 को मंगोलपुरी थाने में धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा था कि मेसर्स प्योर कंसल्टेंसी सॉल्यूशन प्रा. लि. के निदेशक कुलदीप खरे अपने कुछ साथियों के साथ मिले थे। उन्होंने मध्य प्रदेश के बेतुल में 100 एकड़ कृषि भूमि सस्ते दाम पर दिलाने का झांसा देकर उनसे 1.6 करोड़ रुपये वसूल लिए। यह रकम कुलदीप ने कई बैंक खातों में जमा कराई थी। कुलदीप ने फर्जी नाम के व्यक्ति को जमीन का मालिक बताया और फर्जी दस्तावेजों के जरिए रजिस्ट्री कराया। बाद में उन्हें पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी हुई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए मंगोलपुरी थाने में धोखधड़ी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया। जांच के दौरान स्थानीय पुलिस ने मामले में सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन मुख्य आरोपित कुलदीप खरे अंतरिम बेल पर बाहर आने के बाद वापस जेल नहीं लौटा।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

डीसीजी नाईक ने बताया कि गिरफ्तारी से बचने के लिए वह पिछले दो साल से पुलिस को चकमा दे रहा था। गत 10 मार्च को मुखबिर से जानकारी मिली थी कि कुलदीप अपने किसी दोस्त से मिलने निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन आने वाला है। सूचना को पुख्ता कर पुलिस ने जाल बिछाकर कुलदीप को गिरफ्तार कर लिया। जांच में पता चला कि कुलदीप संपन्न परिवार से है। भोपाल से उसने वर्ष 2008 में एमबीए करने के बाद अपना कारोबार और कंसल्टेंसी कंपनी खोली थी। बाद में जल्द रुपये कमाने के चक्कर में धोखाधड़ी शुरू कर दी। उसने कितने लोगों के साथ धोखाधड़ी की है, पुलिस इसकी जांच कर रही है।

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended