संजीवनी टुडे

कोरोना की जंग : RPF ने गरीबों को कराया भोजन, वितरित किया मॉस्क

संजीवनी टुडे 07-04-2020 22:09:22

वैश्विक महामारी बना कोरोना वायरस को लेकर हर तरफ मदद के लिए लोगों के हाथ आगे बढ़ रहे हैं। ऐसे में रेलवे सुरक्षा बल भी बराबर गरीबों को भोजन करा रहा है।


कानपुर। वैश्विक महामारी बना कोरोना वायरस को लेकर हर तरफ मदद के लिए लोगों के हाथ आगे बढ़ रहे हैं। ऐसे में रेलवे सुरक्षा बल भी बराबर गरीबों को भोजन करा रहा है। इसी क्रम में मंगलवार को भी रेलवे सुरक्षा बल ने गरीब बस्तियों में जाकर भोजन वितरित किये और कोरोना से सुरक्षा को लेकर मॉस्क का भी वितरण किया गया। गरीब लोग भोजन पाकर जहां आरपीएफ को धन्यवाद कर रहे हैं तो वहीं आर्शीवाद भे दे रहे हैं। 

आरपीएफ थाना प्रभारी पीके ओझा ने बताया कि रेलवे सुरक्षा बल उत्तर मध्य रेलवे पारंपरिक रुप से कर्मियों की एक ईमानदार और अनुशासित टीम रही है, जो भारतीय रेलवे और जनता की सुरक्षा के मुद्दों पर काम करने के लिए समर्पित है। यही नहीं आईआर ग्राहकों की आकांक्षा को पूरा करने और प्रशासन की मांगों के प्रति हमेशा अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है। पारंपरिक रुप से एक सख्त चेहरे वाले बल ने देशव्यापी तालाबंदी के बाद महामारी कोविड -19 के कारण अपनी भूमिका बदल दी। आरपीएफ, उत्तर मध्य रेलवे मानवीय दृष्टिकोण के साथ सामने आया और रेलवे प्रतिष्ठानों और परिसंपत्तियों को सुरक्षित करने के लिए नियमित रुप से कर्तव्य निभाने के अलावा, सामाजिक भेदभाव और स्वच्छता के मानदंडों को बनाए रखने के साथ गरीब और जरुरतमंदों को भोजन परोसना भी शुरु कर दिया। बताया कि आज भी स्टेशन के आस-पास की बस्तियों में जो लोग इस आपदा में भूखे हैं उन्हे भोजन कराया गया और साथ कोरोना की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए मॉस्क का भी वितरण किया गया। 

कर्मियों के स्वास्थ्य का रखा जा रहा ख्याल-
थाना प्रभारी ने बताया कि आरपीएफ प्रशासन पेशेवर और सामाजिक जिम्मेदारियों को पूरा करने के अलावा अपने कर्मियों के स्वास्थ्य पर कड़ी नजर रख रहा है, क्योंकि उनके पास जोखिम का उच्च जोखिम है। बताया कि कोरोना वायरस से सुरक्षित रहने के लिए बरती जाने वाली सावधानियों के संबंध में संवेदीकरण कार्यक्रम आयोजित करने के साथ-साथ सीओवीआईडी -19 की किसी भी बीमारी या लक्षणों के लिए सभी कर्मचारियों की नियमित निगरानी की जा रही है। अभी तक आरपीएफ कर्मचारियों में से किसी में भी कोविड-19 के लिए कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिला है। यही नहीं आरपीएफ कर्मियों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता भी आयोजित की गई।  क्विज़ प्रतियोगिता के विजेताओं को विटामिन-सी की गोलियां, मास्क, हैंड ग्लव्स, हैंड सैनिटाइज़र, हैंड वाश आदि दिए गए। प्रतियोगिता के दौरान सामाजिक भेद के सभी आवश्यक प्रोटोकॉल को विधिवत बनाए रखा गया।

यह खबर भी पढ़े: महाराष्ट्र: पुणे में कोरोना के 3 मरीजों की मौत, राज्य में मृतकों की संख्या हुई 55

यह खबर भी पढ़े: सांसद संजय सिंह ने की डोनाल्ड ट्रंप के बयान की कड़ी निंदा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended