संजीवनी टुडे

कांग्रेस की गुटबाजी कार्यकर्ताओं का नेता के प्रति लगाव है: पटेल

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 13-09-2019 19:44:36

मध्यप्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री कमलेश्वर पटेल का मानना है कि कांग्रेस में प्रदेशाध्यक्ष पद को लेकर जो गुटबाजी है


ग्वालियर। मध्यप्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री कमलेश्वर पटेल का मानना है कि कांग्रेस में प्रदेशाध्यक्ष पद को लेकर जो गुटबाजी है, वह अपने नेताओं के प्रति कार्यकर्ताओं का लगाव है और कांग्रेस एक पुरानी और बड़ी पार्टी है, जिसमें विचार व्यक्त करना लोकतंत्रिक व्यवस्था का हिस्सा है।

यह खबर भी पढ़े: सोना 700 रुपये टूटा, चांदी 150 रुपये चमकी

श्री पटेल आज यहां अपने प्रवास के दौरान पत्रकारों से चर्चा करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रदेशाध्यक्ष बनाने को लेकर पूछे एक प्रश्र के उत्तर में यह बात कही। उन्होंने कहा कि वे पार्टी औऱ कांग्रेस की सरकार में बड़े पदों पर रहे हैं और उनके प्रदेश अध्यक्ष बनने से कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि पार्टी में कोई गुटबाजी नहीं है। जो भी नेता और कार्यकर्ता अपनी बात कहते हैं तो वह उनके नेता के प्रति लगाव होता है।

उन्होंने कहा कि 15 साल बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है, जिसको लेकर कार्यकर्ताओं में उत्साह है। उन्होंने कहा कि वैसे बड़े नेताओं को भी अपनी बातें सोच-समझकर कहना चाहिए। प्रमुख नेताओं के बोलने से गलत संदेश जाता है। वैसे ऐसी बातें पार्टी फोरम पर ही रखनी चाहिए। वैसे भी जो भी पार्टी में विवाद की स्थिति थी, उसका अब पटाक्षेप हो चुका है। अब कांग्रेस नेताओं का ध्यान केवल वचन पत्र पूरा करने के मुद्दे पर है।

मध्यप्रदेश सरकार पर अफसरशाही हावी है, इस मामले पर श्री पटेल का कहना था कि ऐसा नहीं है। मुख्यमंत्री कमलनाथ का पूरे प्रशासन पर नियंत्रण है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की योजनाओं में चुने हुए जनप्रतिनिधियों की बात नहीं सुनी जाती। खासतौर से पीएम आवास योजना में, यदि मंत्री या पंचायत अध्यक्ष किसी गरीब को मकान देना चाहे तो वह नहीं दे सकता। इन मुद्दों को केन्द्र सरकार के सामने उठाया गया है।

उन्होंने बताया कि सभी योजनाएं ग्राम पंचायत स्तर पर ही लोगों को मिलें, इसके लिए कॉमन सर्विस सेंटर के बनाया जा रहा है। अभी इंदौर जिले से इसकी शुरुआत हुई है औऱ बाद में इसे पूरे प्रदेश में इसे लागू किया जाएगा। इसके अलावा कई योजनाओं में केन्द्र का हिस्सा 60 फीसदी किया गया है, इससे राज्य सरकार पर वित्तीय बोझ बढ़ गया है। इस पर केन्द्र सरकार को ध्यान देना चाहिए।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended