संजीवनी टुडे

कांग्रेस का आरोप, भाजपा झूठे मुद्दों पर कर रही राजनैतिक आंदोलन

संजीवनी टुडे 11-06-2019 17:51:05

मुख्यमंत्री कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने भाजपा पर झूठे मुद्दों पर राजनीतिक आंदोलन करने का आरोप लगाया है।


भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने भाजपा पर झूठे मुद्दों पर राजनीतिक आंदोलन करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि मध्यप्रदेश में ना बिजली का संकट है, ना कानून व्यवस्था की स्थिति खराब है, ना किसानों में आक्रोश है। फिर भी भाजपा नेता सिर्फ एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए, आपसी प्रतिस्पर्धा के लिए, नंबर वन बनने की होड़ में झूठे मुद्दों पर राजनैतिक आंदोलन कर रहे हैं। 

नरेन्द्र सलूजा ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश में बिजली सरप्लस मौजूद है। बिजली संकट वाली कोई बात नहीं है। सिर्फ भीषण गर्मी और तापमान बढ़ने के कारण फाल्ट, ट्रांसफार्मर जलने व ट्रिपिंग की घटनाएं हो रही हैं। लेकिन भाजपा के नेता सरप्लस बिजली में, पर्याप्त रोशनी में दिखावटी चिमनी यात्रा निकाल रहे हैं, जो कि हास्यादपद है। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति भाजपा सरकार के मुकाबले बेहतर है। कांग्रेस सरकार के मात्र 6 माह में महिला अपराधों में 5.5 प्रतिशत की गिरावट आयी हैं। रेप की घटनाओं में 3.5 प्रतिशत की कमी आई है। भाजपा सरकार में प्रदेश मासूम बच्चियों से दुष्कर्म में व महिला अपराध में देश में शीर्ष पर था। 

एनसीआरबी के आंकड़े इसके गवाह हैं। बहन-बेटियां सबसे ज्यादा असुरक्षित थी। वह लोग आज कानून व्यवस्था की बात कर रहे हैं। मासूम बच्चियों से दुष्कर्म जैसे संवेदनशील मुद्दों पर राजनीति कर रहे हैं। जान-बूझकर प्रदेश के शांत माहौल को खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़, मेरठ व बरेली की घटनाओं पर यह लोग मौन हैं और सिर्फ प्रदेश में झूठे मुद्दों पर राजनीति कर रहे हैं।सिर्फ प्रदेश की जनता को गुमराह करने के लिए इस तरह की राजनीति कर रहे हैं।

इंदौर में कैलाश विजयवर्गीय की किसान आक्रोश रैली पर निशाना साधते हुए नरेन्द्र सलूजा ने कहा कि जिनके राज में किसान सबसे ज़्यादा अक्रोशित था, वो किसान आक्रोश रैली निकाल रहे हैं, जबकि किसानों में कोई आक्रोश नहीं है। किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ हो रहा है। किसान कर्ज माफी से खुश हैं। उन्हें उनकी उपज का वाजिब दाम मिल रहा है। 

फिर भी दिखावटी तौर पर किसान आक्रोश रैली निकाल रहे हैं, जबकि यह ट्रैक्टर शक्ति प्रदर्शन रैली थी। इसका किसानों से कोई लेना देना नहीं रहा। शहरी लोगों को नए ट्रैक्टरों पर बैठाकर शहरी व्यस्तम मार्गों पर रैली निकाली गई। इसका ग्रामीण जनता से व किसानों से कोई लेना देना नहीं रहा और जिस तरह से विभिन्न मंच लगाकर कैलाश विजवर्गीय ने खुद का स्वागत कराया, उससे कहीं भी यह किसान आक्रोश रैली नजर नहीं आई। यह तो स्वागत व शक्ति प्रदर्शन रैली बन कर रह गई।

कहा कि कमलनाथ सरकार के 6 माह में किसान, युवा, महिलाएं और सभी वर्ग के लोग खुश हैं। संकट की कोई बात नहीं है, जिस तरह का प्रचारित किया जा रहा है। संकट है तो भाजपा में नेतृत्व का, जिसको लेकर यह सब राजनीति की जा रही है।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

More From state

Trending Now
Recommended