संजीवनी टुडे

स्वर्ण जयंती वर्ष पर मुख्यमंत्री ने जारी किया लोगो

संजीवनी टुडे 14-01-2019 17:07:35


फरीदाबाद। जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा एक शिक्षण संस्थान के रूप में 50वें स्वर्ण जयंती वर्ष में प्रवेश करने के उपलक्ष्य में एक स्वर्ण जयंती लोगो निकाला गया है। इस लोगो का अनावरण हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा रविवार को कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थिति में किया गया। 

जयपुर में प्लॉट/ फार्म हाउस: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में, मात्र 2.30 लाख Call:09314188188

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विश्वविद्यालय प्रशासन को स्वर्ण जयंती वर्ष की शुभकामनाएं दी तथा आशा जताई की विश्वविद्यालय आगे भी विद्यार्थियों को उच्च कोटि की गुणात्मक शिक्षा प्रदान करता रहेगा। इस अवसर पर कुलपति ने मुख्यमंत्री को विशेष स्वर्ण जयंती मोमेंटो भेंट किया। 

उन्होंने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती वर्ष को यादगार बनाने के लिए इस वर्ष पंक्तिबद्ध रूप से अकादमिक तथा सांस्कृतिक गतिविधियां, सेमिनार तथा सम्मेलन आयोजित करने की योजना है। कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय राष्ट्रीय महत्व के एक संस्थान के रूप में वर्ष 1969 में इंडो-जर्मन परियोजना के तहत शुरू हुआ था, जिसमें वाईएमसीए आफ इंडिया की राष्ट्रीय परिषद, केन्द्र व राज्य सरकार तथा जर्मन की केंद्रीय एजेंसियां भागीदार थी। 

इस संस्थान की स्थापना का उद्देश्य देश में जर्मन पद्वति पर शिक्षा को बढ़ावा देना था। वर्ष 2019 में इस संस्थान ने 50वें वर्ष में प्रवेश कर लिया है और राज्य सरकार के सहयोग से यह विश्वविद्यालय आज राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बना रहा है। वर्ष 2009 में विश्वविद्यालय के रूप में अपग्रेड हुए इस संस्थान को राज्य के अग्रणी शिक्षण-सह-संबद्ध विश्वविद्यालय के रूप में अब जाना जाता है। इस प्रकार, एक शिक्षण संस्थान के रूप में विश्वविद्यालय का यह एक उद्देश्यपूर्ण क्षण है। 

विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती लोगो का डिजाइन, जो प्रतियोगिता के माध्यम से विकसित हुआ है, 50वें वर्ष में विश्वविद्यालय का प्रतीक चिह्न बनेगा। इस डिजाइन के लिए विद्यार्थियों, संकाय सदस्यों तथा भूतपूर्व विद्यार्थियों के माध्यम से 70 प्रविष्टियां आई थी। विश्वविद्यालय स्वर्ण जयंती आयोजन के समन्वयक डॉ. संदीप ग्रोवर ने कहा कि लोगो का अंतिम डिजाइन संस्थान के उद्देश्यों को प्रतिबिम्बित करता है और 50वें वर्ष इसके महत्व को बताता है। इसलिए लोगो का चयन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए किया है, जो किसी अन्य लोगो में नहीं था। 

यह लोगो ज्ञान एवं ज्ञान के प्रसार के मार्ग पर संस्थागत उत्कृष्टता और प्रतिबद्धता के 50 वर्षों की अभिव्यक्ति का एक प्रतिरूप है। लोगो के नीचे दिया गया रिबन तथा आदर्श वाक्य ‘विद्या परम् भूषणम्’ अक्षर व भाव के रूप में विश्वविद्यालय के संस्थागत मूल्यों को दर्शाता है तथा विज्ञान व प्रौद्योगिकी में विश्वविद्यालय के क्षेत्र में 50 वर्षों का प्रतिनिधित्व करता है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

लोगों डिजाइन कमेटी के समन्वयक डॉ. अतुल मिश्रा ने बताया कि लोगो के सभी तत्व विज्ञान व प्रौद्योगिका विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व करते हुए विश्वविद्यालय की एक समग्र तस्वीर प्रस्तुत करते है, जिसका नाम हाल ही में जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के रूप में परिवर्तित किया गया है। यह देश के महान वैज्ञानिक जगदीश चंद्र बोस को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए श्रद्धांजलि भी है।

More From state

Trending Now
Recommended