संजीवनी टुडे

दक्षिण कोलकाता में जीत को लेकर आश्वस्त हैं चंद्र कुमार

संजीवनी टुडे 23-03-2019 13:20:40


कोलकाता। लोकसभा चुनाव का बिगुल बजने के बाद पूरे देश के साथ-साथ पश्चिम बंगाल भी चुनावी माहौल में रमा हुआ है। उसमें दक्षिण कोलकाता लोकसभा सीट और भी खास है क्योंकि यहां से सत्तारूढ़ तृणमूल, भाजपा और माकपा तीनों ने दिग्गज प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। 

तृणमूल कांग्रेस की ओर से नगर निगम की चेयरपर्सन माला रॉय को उम्मीदवार बनाया गया है, जबकि भाजपा ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पौत्र चंद्र कुमार बोस को लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाया है। इसके अलावा माकपा ने नंदिनी मुखर्जी को टिकट दिया है जो कि जादवपुर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर हैं। 

इसी लोकसभा क्षेत्र में भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र भी है, जहां से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी विधायक हैं और 2016 के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी के खिलाफ चंद्र कुमार बोस ने चुनाव लड़ा था। इस बार वह लोकसभा के प्रार्थी हैं और अपनी जीत को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं।

शनिवार को हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में चंद्र कुमार बोस ने कहा कि इस बार मैं हर हाल में जीत दर्ज करुंगा। विधानसभा चुनाव के बाद से परिस्थिति बदली है। लोग किसी भी तरह से तृणमूल से मुक्ति पाना चाहते हैं और इस बार मुझे जरूर जिताएंगे। रविवार को इस लोकसभा क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ताओं का एक सम्मेलन बुलाया गया है, जहां प्रचार की रणनीति बनेगी।

उल्लेखनीय है कि चंद्र कुमार बोस ने बताया कि शुक्रवार शाम उन्होंने नेताजी भवन के पास अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत की थी, लेकिन तेज आंधी और तूफान की वजह से वह इलाके में घूम नहीं सके। अब वह घूम-घूमकर पूरे क्षेत्र में लोगों से मिल रहे हैं और अपने पक्ष में मतदान करने की अपील भी कर रहे हैं।

माकपा प्रत्याशी नंदिनी मुखर्जी ने भी शनिवार को हिन्दुस्थान समाचार से विशेष बातचीत में चंद्र कुमार बोस को फायदा मिलने की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार से होने की वजह से निश्चित तौर पर उनको इसका लाभ मिल सकता है, लेकिन इसका बहुत अधिक आसान नहीं होगा। उन्होंने भी अपनी जीत का दावा ठोका। नंदिनी ने कहा कि बंगाल के लोग तृणमूल के अत्याचार से त्रस्त हो चुके हैं और किसी भी हाल में इनसे मुक्ति चाहते हैं। दक्षिण कोलकाता लोकसभा क्षेत्र में भी लोग तृणमूल को वोट नहीं देंगे।

More From state

Trending Now