संजीवनी टुडे

भाजपा विधायक अजय चंद्राकर को धमकी देने का मामला सदन में उठा

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 27-11-2019 19:03:15

चंद्राकर को एक रेत व्यवसायी द्वारा फोन पर अभद्र व्यवहार कर जान से मारने की धमकी देने का मामला भाजपा सहित जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सदस्यों ने जोर-शोर से उठाया।


रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज प्रमुख विपक्षी दल भाजपा के वरिष्ठ विधायक अजय चंद्राकर को एक रेत व्यवसायी द्वारा फोन पर अभद्र व्यवहार कर जान से मारने की धमकी देने का मामला भाजपा सहित जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सदस्यों ने जोर-शोर से उठाया।

यह खबर भी पढ़ें:​ ​देवेगौड़ा ने कहा, उप चुनाव के बाद कर्नाटक में भी हो सकती है महाराष्ट्र जैसी स्थिति

भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने इस मामले को सदन में उठाया।जिसके बाद गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने अपने वक्तव्य में कहा कि श्री चंद्राकर से अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन पर अभद्र व्यवहार कर जान से मारने की धमकी की जानकारी जैसे ही उन्हें मिली इस संबंध में पुलिस महानिदेशक को तत्काल निर्देश दिए गए, जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपी का मोबाईल नंबर ट्रेस कर उसका पता लगाते हुए उसे हिरासत में लिया गया। आरोपी जसपाल सिंह रंधावा जिला दुर्ग का रहने वाला है और वो रेत व्यवसाय से जुड़ा हुआ है।

साहू ने बताया कि आरोपी द्वारा धमतरी जिले के नगरी विधानसभा क्षेत्र में रेत का व्यवसाय करता था लेकिन किसी कारण से उसे रेत व्यवसाय का काम नहीं करने दिया जा रहा था जिससे वो परेशान था और इसी परेशानी में उसने विधायक के निज सचिव को फोन लगाकर उसके साथ अभद्र व्यवहार और जान से मारने की धमकी दी थी। साहू ने बताया कि चंद्राकर ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने पर सहमति नहीं जतायी है इसलिए आरोपी के खिलाफ फिलहाल धारा 151 के तहत अपराध दर्ज कर हिरासत में लिया है।

नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि रेत माफियाओं का मनोबल क्यों बढ़ा हुआ है, उन्हें किसका संरक्षण प्राप्त है। कौशिक ने इस पूरे मामले की जांच की मांग की।भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि जिस आरोपी ने मुझसे फोन पर अभद्र व्यवहार कर धमकी दी वह दुर्ग जिले का रहने वाला है और वो मेरे विधानसभा क्षेत्र नहीं बल्कि नगरी विधानसभा क्षेत्र में रेत व्यवसाय से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि इस धमकी के बाद मुझे सरकार की ओर से सुरक्षा मुहैया कराई जा रही थी जिसे लेने से मैंने मना कर दिया।

पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने कहा कि एक ओर विधानसभा का सत्र चल रहा है और दूसरी ओर सदन के सदस्य को जान से मारने की धमकी दी जाती है जो बहुत गंभीर मामला है। उन्होंने इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग की। भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के विधायक अजीत जोगी और धर्मजीत सिंह ने भी इस मामले की निंदा की और आरोपी सख्त के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग सदन में की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended