संजीवनी टुडे

भाजपा नेता हत्याकांड का खुलासा: जमीन विवाद में हुई थी हत्या, शार्प शूटर व सुपारी देने वाले गिरफ्तार

संजीवनी टुडे 25-10-2020 21:10:38

एसओजी टीम व थाना नारखी पुलिस ने सुपारी लेकर हत्या करने वाले शार्प शूटरों व सुपारी देने वाले व्यक्तियों को शनिवार को गिरफ्तार कर नौ दिन पूर्व हुये भाजपा नेता हत्याकांड का खुलासा किया है।


फिरोजाबाद। एसओजी टीम व थाना नारखी पुलिस ने सुपारी लेकर हत्या करने वाले शार्प शूटरों व सुपारी देने वाले व्यक्तियों को शनिवार को गिरफ्तार कर रविवार को नौ दिन पूर्व हुये भाजपा नेता हत्याकांड का खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार भाजपा नेता की हत्या जमीनी विवाद में पड़ोसियों ने ही सुपारी देकर कराई थी। एक हत्यारोपी अभी फरार है। पुलिस ने उस पर 25 हजार का ईनाम घोषित किया है। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल ने बताया कि 16 अक्टूबर की रात थाना नारखी के कस्वा नगला बीच में भाजपा नेता दयाशंकर गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में हत्या व हत्या के षडयंत्र का नामजद मुकदमा दर्ज किया गया था। नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। लेकिन इस घटना में अज्ञात शूटरों की तलाश जारी थी। 

एसएसपी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर शनिवार को थानाध्यक्ष नारखी विनोद कुमार व एसओजी प्रभारी कुलदीप सिंह की टीम द्वारा हत्या की घटना में प्रकाश में आये दो मोटर साइकिलों पर सवार चार व्यक्तियों को आलमपुर पुलिया से दबोचा गया। जिन्होंने पूछताछ में दयाशंकर गुप्ता की हत्या का इकबाल किया। उनहोंने हत्या कराने वाले व्यक्तियों के नाम ईश्वर देव गुप्ता, फूल किशोर उर्फ फूले निवासी नगला बीच थाना नारखी फिरोजाबाद बताये। उन्होंने हत्या कराने का कारण जमीनी विवाद व आपसी मतभेद बताया है। इसके साथ ही हत्या कराने में तय की गयी सुपारी की रकम 4 लाख रुपये व 50 गज का एक प्लाट जिसमें से 60 हजार रुपये घटना से पहले बतौर एडवान्स दिये जाने की बात को भी स्वीकार किया तथा घटना की पूरी साजिश जीतू उर्फ जितेन्द्र की समर पर रचने की बात भी बतायी। 

एसएसपी ने बताया कि पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार अभियुक्तगणों से पूछताछ के बाद सुपारी देने वाले व्यक्ति ईश्वर देव गुप्ता व उसके भाई फूले व उसके एक साथी जीतू पहलवान उर्फ जितेन्द्र को गिरफ्तार किया गया। जिन्होंने पूछताछ में हत्यारों को सुपारी की रकम तय करने की बात व बतौर एडवान्स कुछ रुपये देने की बात को स्वीकार करते हुये हत्या कराये जाने के पीछे आपसी मतभेद व जमीनी विवाद होना बताया। 

एसएसपी ने गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम अनिल पण्डित उर्फ गौतम पुत्र खजान सिहं जाटव निवासी मेङू थाना हाथरस जंक्शन हाथरस, जयकेश उर्फ जैकी पुत्र सन्तोष यादव निवासी जेवङा तिराहा थाना मक्खनपुर, शिशुपाल उर्फ गब्बर पुत्र राजपाल ठाकुर निवासी ग्राम मरसैना थाना पचोखरा, बली मौहम्मद पुत्र नसरुद्दीन निवासी रतीगढी थाना नारखी, ईश्वरदेव गुप्ता व फूलकिशोर उर्फ फूले पुत्रगण सुरेशचन्द्र गुप्ता निवासी नगला बीच थाना नारखी, जीतू उर्फ जितेन्द्र पुत्र रामपाल सिहं जादौन निवासी नगला सिकन्दर थाना नारखी बताये हैं। पुलिस ने इनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त तीन तमंचा, कारतूस व मोटर साईकिल बरामद की है। 

एसएसपी के अनुसार गिरफ्तार अभियुक्त अनिल पंण्डित, जयकेश उर्फ जैकी, शिशुपाल उर्फ गब्बर व बली मौहम्मद का आपराधिक इतिहास है। उन्होंने फरार अभियुक्त का नाम दुर्वेश पुत्र चंद्रपाल सिंह यादव निवासी नगला नरैनी थाना सिरसागंज बताया है। जिस पर 25 हजार का ईनाम घोषित किया गया है।

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तान को FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर ना निकाल पाने पर विपक्ष ने इमरान सरकार को लगाई फटकार

यह खबर भी पढ़े: Rajasthan Corona Update: 1821 नए संक्रमित मिले, जबकि 13 मरीजों की मौत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended