संजीवनी टुडे

बर्ड फेयर 2019 की हुई शुरुआत

संजीवनी टुडे 12-01-2019 23:30:00


अजमेर। अरावली की पहाडिय़ों के बीच बसे अजमेर में पक्षियों का कलरव और उनकी अठखेलियां देखने शहरवासियों का हुजूम उमड़ पड़ा। बर्ड फेयर 2019 की शनिवार को शानदार शुरुआत हुई। पक्षियों की अद्भुत दुनिया को देखकर हर कोई उत्साहित नजर आया। आनासागर झील स्थित पेड़ों के ठूंठ पर बैठे, पानी में तैरते, हनियों-झाडिय़ों के बीच छुपकर बैठे और खुले आसमान में उड़ते पक्षियों की फोटो देखकर शहरवासी हैरान रह गए। हजारों मील दूर से आए पक्षियों की प्रजातियों और सुंदरता ने सबको प्रभावित किया। 

राजस्थान पत्रिका, जिला प्रशासन, नगर निगम और महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार से तृतीय बर्ड फेयर की शुरुआत हुई। अतिथियों ने आसमान में रंगबिरंगे गुब्बारे छोडक़र बर्ड फेयर का का आगाज किया। राजस्थान पत्रिका अजमेर के सम्पादकीय प्रभारी उपेन्द्र शर्मा ने आभार व्यक्त किया।

आमजन के सहयोग से शहर बनेगा स्मार्ट
उद्घाटन मौके पर जिला कलक्टर विश्वमोहन शर्मा ने कहा कि पक्षी न केवल हमारे मेहमान बल्कि शहर की शान हैं। सामान्यत: हम पर्यटन, पक्षियों और वन्य जीवों को देखने सुदूर प्रांतों मे जाते हैं। लेकिन कुदरत ने हमारे शहर को खूबसूरत नजारे और पक्षियों को देखने का सौभाग्य दिया है। राजस्थान पत्रिका ने परिन्दों की अद्भुत दुनिया के माध्यम से शहर को जागरूक किया है। हमें जैव विविधता, पक्षियों, वन्य जीवों के संरक्षण की बागडोर संभालनी चाहिए। आमजन के सहयोग से अजमेर स्वच्छ, सुंदर और स्मार्ट सिटी बन सकता है।

जयपुर में प्लॉट/ फार्म हाउस: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में, मात्र 2.30 लाख Call:09314188188

विकसित होगा नया पर्यटन क्षेत्र
पुलिस महानिरीक्षक संजीब कुमार नार्जरी ने कहा कि अजमेर वास्तव में खूबसूरत शहर है। यहां के मनोरम नजारे किसी वैश्विक पर्यटक स्थल के समान हैं। यह राजस्थान में नए पर्यटन क्षेत्र को विकसित करने में सहायक है। शहर में झील और पानी नहीं होता तो शायद यह पक्षी यहां कभी नहीं आते। शहर में पक्षियों का संरक्षण करना है तो आनासागर झील को स्वच्छ बनाने में सहयोग देना होगा। इससे जल में विचरण करने वाली प्रजातियां बढ़ेंगी तो इसका आकर्षण और भी अप्रतिम होगा।

पर्यावरण की अहम कड़ी है पक्षी
वन विभाग जयपुर की उप वन संरक्षक (वन्य जीव) सुदीप कौर ने कहा कि वास्तव में पक्षी हमारे पर्यावरण मित्र हैं। इनसे पर्यावरण स्वच्छ, सुंदर और संतुलित रहता है। पर्यावरण प्रदूषण और असंतुलित तापमान के चलते पक्षियों की कई प्रजातियां विलुप्त हो रही हैं। पक्षी जीवन में तनाव दूर करने, मुस्कुराने और परस्पर सहयोग की सीख देते हैं। प्रत्येक नागरिक को पक्षी संरक्षण का संकल्प लेना चाहिए।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इन प्रजातियों के पक्षी पहुंचे अजमेर—
आनासागर झील पर अनेक प्रजातियों के पंछियों की आमद रहती है। इनमें से पाइड किंगफिशर, ग्रे हेरोन, पेलिकन्स,एवोसेट, मैलार्ड, नॉर्दन, शॉवलर, कॉमनटील, लिटिल ग्रीब, कोर्मोरन्ट, पैन्टेड स्टोर्क विशेष आकर्षण का केंद्र हैं।

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended