संजीवनी टुडे

बिहार: CM नीतीश कुमार बोले- कोरोना से डरने की जरुरत नहीं, सिर्फ मास्क पहन कर रहें

संजीवनी टुडे 03-06-2020 18:20:54

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि आपलोग लोगों को मास्क लगाने के लिए अधिक से अधिक प्रेरित करें। जापान जैसे देश में पहले से ही लोग मास्क का प्रयोग करते हैं जिसका फायदा हुआ कि वहां पर अधिक संक्रमण नहीं फ़ैल सका।


पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि आपलोग लोगों को मास्क लगाने के लिए अधिक से अधिक प्रेरित करें। जापान जैसे देश में पहले से ही लोग मास्क का प्रयोग करते हैं जिसका फायदा हुआ कि वहां पर अधिक संक्रमण नहीं फ़ैल सका। उन्होंने कहा कि बिहार में लोगों को कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। सिर्फ सतर्क रहने की जरूरत है। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि दो-तीन दिनों से देख रहे हैं लोगों की खूब भीड़ जमा हो रही है। जरूरत न हो तो सड़कों पर नहीं निकलें । उन्होंने कहा कि अब सभी को मास्क लगाने की जरूरत है। बिहार में तीन मई के बाद कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है। बाहर से आने का सिलसिला शुरू होते ही कोरोना का संक्रमण भी यहां तेजी से फ़ैल रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण डॉक्टरों को भी ट्रेनिंग दी जाएगी। अगर ग्रामीण डॉक्टर को अपने किसी भी मरीज में इसके लक्षण दिखे तो तो उसका तुरंत टेस्ट कराएं। बुजुर्ग, बच्चे और गर्भवती  महिलाओं को इससे बचाना होगा। हमलोगों की प्रार्थना है कि सब लोग स्वास्थ्य रहें।  मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर  जागरूकता रहेगी तो कोई नुकसान नहीं होगा। किसी के चेहरे से लक्षण दिखे तो जांच जरूर कराएं। सीएम ने कहा कि हमलोगों का लक्ष्य है कि 10 हजार टेस्ट प्रतिदिन हो।

एकांतवास केंद्र में रह रहे हैं कई लाख लोग 

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि एक व्यक्ति पर 5,300 रुपए खर्च हो रहा है। उनको हर तरह की सुविधाएं दी जा रही हैं। जितने राशन कार्डधारी हैं, सभी को एक-एक हजार रुपए दिये जा रहे हैं। एक करोड़ से अधिक लोगों को यह रकम दी जा चुकी है। सभी का राशन कार्ड बन जाए, इसका भी काम हो रहा है। इसके लिए कुल 1620 हजार करोड़ रुपये खर्च किये गए हैं। सीएम ने कहा कि एकांतवास केंद्र  में उनको रखा गया है जो कोरोना के रेड जोन से आए हैं । बाकी जगहों से आए लोगों को गृह एकांतवास  की सलाह दी जा रही है। उनकी जांच भी हो रही है। गृह एकांतवास  के लिए पल्स पोलियो अभियान की तरह  निरंतर जांच की  जा रहि  है। एकांतवास केंद्र  में जांच करने के दौरान भी कोरोना पॉजिटिव निकल जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिना लक्षण के भी कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। ऐसे लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा जा रहा है क्योंकि 16 जून के बाद तो अब क्वॉरेंटाइन सेंटर को बंद कर दिया जाएगा।

जल्द ही आइसोलेशन वार्ड में होंगे 40 हजार बेड

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि 10 हजार कोरोना टेस्ट का लक्ष्य  हमलोग पूरा करेंगे। अभी संक्रमित लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा जा रहा है। कुल बेडों की संख्या साढ़े 21 हजार है। इसे बढ़ाकर 40 हजार किया जा रहा है। सबसे बड़ा फोकस संक्रमण रोकने को लेकर है। इसको लेकर दो गज की दूरी बनाकर रहना होगा।

यह खबर भी पढ़े: मध्यप्रदेश: कोरोना संक्रमण के बीच उपचुनाव के लिए हुई सैंकड़ो लोगों की बैठक, एसडीएम ने थमाया नोटिस

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended