संजीवनी टुडे

बंगाल: बेरोजगार बैठे मजदूरों के लिए वरदान साबित हुआ चक्रवात

संजीवनी टुडे 26-05-2020 15:41:56

वैसे तो घातक चक्रवाती तूफान अम्फन ने पश्चिम बंगाल के आधा दर्जन जिलों में भारी तबाही मचाई है। लेकिन पिछले दो महीनों से कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन में बेरोजगार बैठे मजदूरों के लिए यह वरदान भी साबित हुआ है।


कोलकाता। वैसे तो घातक चक्रवाती तूफान अम्फन ने पश्चिम बंगाल के आधा दर्जन जिलों में भारी तबाही मचाई है। लेकिन पिछले दो महीनों से कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन में बेरोजगार बैठे मजदूरों के लिए यह वरदान भी साबित हुआ है। खासकर इलेक्ट्रीशियन और लकड़ी मिस्त्रियों के लिए। दरअसल चक्रवात के साथ तेज गति से चले तूफान के कारण लाखों पेड़ उखड़कर सड़क पर, गली मोहल्लों में गिर पड़े हैं। 

बिजली के खंभे तार आदि टूट गए हैं जिसकी वजह से इलेक्ट्रिसिटी की आपूर्ति बाधित है और पीने का पानी भी नहीं मिल रहा। ऐसे समय में इलेक्ट्रीशियन, मजदूरों और लकड़ी के कामगारों को सरकार की ओर से काम मिलने लगा है। सड़कों पर गिरे पड़े पेड़ों को काटकर हटाने और बिजली आपूर्ति पुनः बहाल करने के लिए पूरे राज्य में हजारों श्रमिकों को काम पर रखा गया है। 

पिछले दो महीनों से लॉक डाउन के चलते जो मजदूर सुबह-शाम भोजन के जुगाड़ करने के लिए परेशान होते थे। उन्हें अब सरकार की ओर से मेहनताने के तौर पर इतनी अच्छी धनराशि मिल रही है कि आगामी कई दिनों तक भोजन आदि के बारे में सोचना नहीं पड़ेगा। कोलकाता नगर निगम के एक पार्षद ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बताया कि लॉक डाउन के चलते कोलकाता में सरकारी तौर पर काम करने वाले कई श्रमिक अपने अपने गृह राज्य अथवा जिलों में चले गए हैं। इस वजह से आपदा के इस समय में बिजली आपूर्ति और यातायात बहाल करने के लिए निजी मजदूरों को रखा जा रहा है। सड़कों पर यातायात को बहाल करने के लिए गिरे पड़े पेड़ों को हटाने के लिए स्थानीय श्रमिकों को काम पर लगाया गया है। उन्होंने बताया कि बिजली आपूर्ति बहाल करने तथा हर जगह तारों को बिछाने के काम में भी स्थानीय मजदूरों को ही लगाया गया है।
 
स्थानीय इलेक्ट्रीशियनों को भी काम दिया गया है। कोलकाता के अलावा दमदम और हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना तथा मेदनीपुर आदि क्षेत्रों में भी इसी तरह के हालात हैं जहां स्थानीय मजदूर सेवाएं सामान्य करने में जुटे हुए हैं। इससे श्रमिकों को लाभ मिल रहा है।  

यह खबर भी पढ़े: अब चारधाम यात्रा होगी और आसान, चंबा में 3 महीने में तैयार होगी 440 मीटर सुरंगः गडकरी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended