संजीवनी टुडे

Kanpur/ मुठभेड़ से पहले SO विनय तिवारी ने की थी विकास दूबे से बात, आईजी ने किया निलंबित, हिरासत में लेकर हो रही है पूछताछ

संजीवनी टुडे 04-07-2020 14:29:44

स दबिश में चौबेपुर थानेदार भी गए लेकिन पुलिस टीम के पीछे-पीछे रहे और हमले से ठीक पहले वहां टीम को छोड़कर भाग निकले। यही वजह है कि शक की सुइयां उनकी ओर मुड़ गई हैं।


कानपुर। पुरे उत्तर प्रदेश को हिलाकर रख देने वाली कानपुर के बिकरू गांव की घटना में चौबेपुर थानेदार विनय तिवारी की भूमिका पुलिस को संदिग्ध लग रही है। इसी सिलसिले में आईजी मोहित अग्रवाल ने चौबेपुर थाना प्रभारी विनय तिवारी को निलंबित कर दिया गया है। 

सूत्रों के मुताबिक चौबेपुर के थाना प्रभारी की भूमिका इस हत्याकांड के दौरान संदिग्ध बताई जा रही है। पहले थानेदार विनय तिवारी ने विकास दुबे पर रिपोर्ट दर्ज करने के बजाए पीड़ित राहुल को भगा दिया था। पीड़ित राहुल तिवारी पर जानलेवा हमले की एफआईआर दर्ज करने के बजाए एसओ चौबेपुर विनय तिवारी विकास दुबे के यहां समझौता कराने पहुंचे थे। इस दौरान राहुल तिवारी को पीटने के साथ एसओ विनय तिवारी को भी विकास ने बेइज्जत किया था। 

Kanpur encounter

इसके बाद जब सीओ ने रिपोर्ट दर्ज कराई और गिरफ्तारी के लिए दबिश दी। इस दबिश में चौबेपुर थानेदार भी गए लेकिन पुलिस टीम के पीछे-पीछे रहे और हमले से ठीक पहले वहां टीम को छोड़कर भाग निकले। यही वजह है कि शक की सुइयां उनकी ओर मुड़ गई हैं।

सूत्रों के अनुसार विकास दुबे की कॉल डिटेल में कई पुलिस वालों के नंबर मिले हैं, सभी की पड़ताल जारी है। पता चला है कि मुठभेड़ की रात तक 24 घंटे में इन लोगों से विकास दुबे की कई बार बातचीत हुई।

Kanpur encounter

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे और उसके शूटर गैंग ने जिस तरह से जघन्य हत्याकांड को प्लानिंग के तहत अंजाम दिया, उसने पुलिस विभाग की गोपनीयता पर सवाल खड़े किए हैं। अधिकारियों को आशंका है कि पुलिस महकमे के ही किसी भेदिए ने चौबेपुर थाने से फोर्स के चलने और गांव पहुंचने तक पल-पल की मूवमेंट की जानकारी विकास दुबे को दी थी। 

Kanpur encounter

बता दें कि कानपुर के बिक्ररू गांव में 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने के मामले में एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और जिला पुलिस ने 2200 नम्बरों को सर्विलांस पर लिया है। 100 ऐसे लोग चिह्नित किए गए हैं जो उसके करीबी हैं। उनके मोबाइल नम्बरों को लिसनिंग पर लिया गया है। इस आधार पर पुलिस ने 12 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। इनसे लगातार पूछताछ जारी है। सूत्रों के अनुसार मेाबाइल कॉल रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

यह खबर भी पढ़े: 2 दिन के लिए टला नेपाली पीएम ओली की कुर्सी का संकट, अब सोमवार को होगा फैसला

यह खबर भी पढ़े: कानपुर मुठभेड़/ बदमाशों को थाने के दारोगा ने ही दी थी पुलिस रेड की जानकारी, विकास दुबे की कॉल डिटेल में मिला नंबर

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended