संजीवनी टुडे

कोरोना संक्रमित मरीजों को नहीं दी जाएगी आयुर्वेदिक दवाएं, स्वास्थ्य विभाग ने लगाई रोक

संजीवनी टुडे 21-10-2020 16:10:00

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति से निपटने और उसे काबू करने में जुटी सरकार ने बड़ा फैसला किया है।


भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति से निपटने और उसे काबू करने में जुटी सरकार ने बड़ा फैसला किया है। अब प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों पर आयुर्वेदिक दवाइयों का परीक्षण नहीं किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग ने अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाओं को एक साथ खाने से शरीर पर पडऩे वाले असर का अध्ययन नहीं होने का हवाला देते हुए इस पर रोक लगा दी है। ऐसे में अब मरीजों पर आयुर्वेदिक दवाओं का परीक्षण केंद्रीय आयुष विभाग की मंजूरी के बाद ही किया जाएगा।

पिछले हफ्ते राज्य तकनीकी सलाहकार समिति की बैठक में लिए गए निर्णयों के आधार पर यह आदेश सभी संबंधित अधिकारियों को जारी कर दिया गया है। आदेश के अनुसार अब कोरोना से संक्रमित मरीजों को आयुर्वेदिक काढ़ा और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवाएं भी नहीं दी जाएंगी। मरीजों को होम आईसोलेशन में भी उस स्थिति में भेजने के निर्देश है जब सैंपल लेने या लक्षण दिखाने के सात दिन पूरा होने के बाद पिछले तीन दिन से बिना दवा खाए बुखार नहीं आया हो। 

पिछले चार दिन से मरीज का ऑक्सीजन का स्तर 95 फीसद से ज्यादा हो और सांस लेने में कोई दिक्कत नहीं हो रही हो। बता दे कि मप्र में अब कोरोना संक्रमण के मामले में तेजी से कमी आ रही है। यहां नए मरीजों के मुकाबले रिकवरी रेट अधिक है। प्रदेश में आयुष अस्पतालों को भी कोविड केयर केंद्र बनाया गया है, जहां मरीजों को एलोपैथी के साथ आयुर्वेदिक व होम्योपैथी दवाएं भी दी जा रही हैं। कुछ जगह ट्रायल भी हो रहे हैं। लेकिन अब इस पर रोक लगा दी गई है।

यह खबर भी पढ़े: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, बारिश प्रभावित किसानों को दी जाएगी भरपूर आर्थिक मदद

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended