संजीवनी टुडे

शरीर को बिना प्रभावित किए आयुर्वेद चिकित्सा सबसे अहम: प्रभारी मंत्री सज्जन सिंह

संजीवनी टुडे 14-07-2019 18:54:50

खरगौन जिले के महेश्वर नगर में मां नर्मदा भवन में रविवार को आयुष विभाग द्वारा आयुष स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया।


खरगौन। खरगौन जिले के महेश्वर नगर में मां नर्मदा भवन में रविवार को आयुष विभाग द्वारा आयुष स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। इस मेले का शुभारंभ प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा और संस्कृति तथा आयुष मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ द्वारा किया गया। इसके साथ ही मंत्रीद्वय ने महेश्वर जनपद के बड़वेल गांव में आयुष ग्राम योजना का शुभारंभ भी किया। आयुष स्वास्थ्य मेले के शुभारंभ अवसर पर प्रभारी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि विश्व में किसी भी शरीर को बिना बुरे प्रभाव के रोगों और बीमारियों को जड़ से समाप्त करने वाली चिकित्सा विधि ही हमारे देश की देन है, जबकि आज की लोकप्रिय चिकित्सा पद्धति एलोपैथी शरीर पर कई तरह के बुरे प्रभाव छोड़ता है। अब प्रदेश शासन अपने देश की इस विश्व विख्यात चिकित्सा पद्धति को लेकर कई नए कार्यक्रम आयोजित कर रही है, जिससे हमारे देश के नागरिक भी इसके लाभ से लाभांवित हो सके। कार्यक्रम में आयुष विभाग के आयुक्त संजीव कुमार झा, कलेक्टर गोपालचंद्र डाड, पुलिस अधीक्षक सुनील पांडेय, आयुष विभाग के उपसंचालक डॉ. पीसी शर्मा, राजीव मिश्रा उपस्थित रहे।

एलोपैथी की दुनिया में आयुर्वेद चिकित्सा का जड़ से सम्पूर्ण समाधान: आयुष मंत्री
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही प्रदेश की चिकित्सा शिक्षा, संस्कृति एवं आयुष मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि एलोपैथी की दुनिया के बीच मे आयुर्वेद की आज भी महत्वपूर्ण भूमिका है। यह हमारी ऐसी चिकित्सा पद्धति है, जो किसी भी रोग या बीमारी को जड़ से समाप्त करती है। यह चिकित्सा पद्धति जड़ी बूटी के सहारे काम करती है, जो हमारे जीवन मे हर दिन उपयोग में आती है। अब शासन ऐसे प्रयास कर रही कि जनता इसका ज्यादा से ज्यादा उपयोग करे।

आयुष मंत्री डॉ. साधौ ने कहा कि महेश्वर के पांच पांच गांवों में जहां पूर्व से डिस्पेंसरियां हैं, अब उनको हेल्थ वैलनेस सेंटर बनाया गया है। महेश्वर की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि रही है, इसको देखते हुए यहां 30 करोड़ रुपये की लागत से विशाल ओडोटोरियम बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। वही 15 करोड़ रुपये की लागत से निमाड़ संस्कृति कला केंद्र स्थापित करने के लिए भी प्रस्ताव भेजे गए हैं। महेश्वरी साड़ी को विश्व स्तर पर पहचान दिलाने के लिए मप्र शासन ने विशेष रूप से बजट में प्रावधान किए हैं। यह यहां की स्थानीय जनता के लिए गौरवांवित करने जैसी बात है।

मेले में बड़ी संख्या में रोगियों का किया उपचार
आयुष विभाग द्वारा आयोजित आयुष स्वास्थ्य मेले में बड़ी संख्या में रोगियों का उपचार किया गया। आयुष अधिकारी डॉ. वासुदेव आसलकर ने इस दौरान आयुर्वेद के 993 तथा होम्योपैथी के 303 रोगियों का उपचार किया गया। वहीं अग्निकर्म के 115, शिरोधरा के 123, स्नेहन स्वेदन 167 तथा रक्तमोक्षन के 48 रोगियों का उपचार किया गया। मेले में जिले के अनुभवी आयुर्वेद एवं होम्योपैथी चिकित्सकों द्वारा उपचार किया गया।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended