संजीवनी टुडे

शिवरात्रि पर शिवमय बनी श्रीराम की नगरी अयोध्या, निकली शिव की बारात

संजीवनी टुडे 21-02-2020 22:30:07

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की पावन नगरी अयोध्या में महाशिव रात्रि का पर्व हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। शुक्रवार को नागेश्वरनाथ मंदिर से रात में भगवान शिव की बारात निकाली गई। मंदिर से परंपरागत रूप से निकली बारात में हाजरों बाराती शामिल हुए।


अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की पावन नगरी अयोध्या में महाशिव रात्रि का पर्व हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। शुक्रवार को नागेश्वरनाथ मंदिर से रात में भगवान शिव की बारात निकाली गई। मंदिर से परंपरागत रूप से निकली बारात में हाजरों बाराती शामिल हुए। बारात में झूमते नाचते गाते भगवान शिव की आस्था में झूमते हुए मुख्य मार्गो से होते हुए बारात क्षीरेश्वर महादेव मंदिर पहुंची जहाँ पर भगवान शिव की बारात का स्वागत देर रात किया जाएगा और पुनः शिव बारात वापस नागेश्वरनाथ के लिए प्रस्थान करेगी। 

 बाराती ढोल नगाड़ों और डीजे की धुन पर थिरकते हुए आस्था और आध्यात्म के इस संगम में गोते लगाते नज़र आये। शिव बाराती अबीर गुलाल भी एक दूसरे पर उड़लते रहे। अयोध्या के प्राचीन नागेश्वरनाथ मन्दिर से भगवान शिव शंकर को दुल्हे के रूप में श्रृंगार कर निकली बारात में बाराती बने श्रद्धालु भक्ति गीतों की धुन पर नाचते गाते रहे। भगवान भोलेनाथ की बारात में मस्ती में झूम रहे बारातियों ने जमकर नृत्य किया। बारात में अयोध्या की सड़कों पर होली से पहले ही होली का एहसास होता रहा। 

प्राचीन शिव बारात में इतना अबीर गुलाल उड़ाया गया कि बारात में न सिर्फ शामिल हर बाराती रंग-बिरंगा नजर आये, बल्कि सड़क के दोनों तरफ इस बारात का दर्शन करने के लिए खड़े श्रद्धालु भी रंग में सराबोर नजर आये। 

आज सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने पुण्य सलिला सरयू में डुबकियां लगाने के बाद राम की पैड़ी परिसर में स्थित प्राचीन नागेश्वरनाथ मंदिर में जलाभिषेक कर बाबा नागेश्वरनाथ का दर्शन किया। रामनगरी के अन्य मंदिरों में प्राचीन क्षीरेश्वर नाथ महादेव मंदिर,कोटेश्वर नाथ महादेव मंदिर ,सहित सभी शिव मंदिरों में शिव भक्तों की भीड़ लगी रही। सर्वाधिक भीड़ नागेश्वर नाथ महादेव मंदिर पर देखी गई जहां कतारबद्ध होकर शिव भक्तों ने महाशिवरात्रि के पर्व के मौके पर बाबा भोलेनाथ का दर्शन किया। 

मंदिर से बारात निकलने पर रूद्राभिषेक का क्रम जारी है। वही प्राचीन क्षीरेश्वर नाथ महादेव मंदिर पर भी घंटे घड़ियाल के मंगल ध्वनि के बीच ब्रह्म मुहूर्त में बाबा क्षीरेश्वर नाथ महादेव की आरती के साथ ही दर्शनों का जो सिलसिला शुरू हुआ। वह देर रात तक चलता रहेगा। 

नागेश्वरनाथ में पूरी रात चलेगा भगवान् शिव के विवाह का उत्सव 
नागेश्वरनाथ मंदिर में बारात के वापस पहुंचने पर पूरी रात्रि भगवान का शिव का विवाह का कार्यक्रम किया जाएगा। ऐसी मान्यता है कि भगवान् शिव की बारात में शामिल होने से सभी मनोकामना पूर्ण होती है। आज के दिन भगवान शिव के अभिषेक का भी बहुत महत्व है। क्योंकि आज के ही दिन बहेरिया नाम के व्यक्ति को भगवान शिव से मोक्ष का वरदान मिला था। 

यह खबर भी पढ़ें: अमेठी/ सरकार को घेरने के लिए युवक कांग्रेस करायेगी 'यंग इंडिया के बोल 2020' प्रतियोगिता

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended