संजीवनी टुडे

औरंगजेब के राजतिलक वाले स्थान का नहीं हो सकता नवीनीकरण, मुगल शासक हमारी विरासत का हिस्सा नहीं: सिरसा

संजीवनी टुडे 15-02-2020 18:49:48

भारतीय पुरातत्व विभाग (एएसआई) द्वारा दिल्ली के शालीमार बाग में मुगल शासक औरंगजेब के राजतिलक वाले स्थान के नवीनीकरण की योजना पर सिखों ने कड़ा विरोध किया है।



नई दिल्ली। भारतीय पुरातत्व विभाग (एएसआई) द्वारा दिल्ली के शालीमार बाग में मुगल शासक औरंगजेब के राजतिलक वाले स्थान के नवीनीकरण की योजना पर सिखों ने कड़ा विरोध किया है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीपीसी) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि अगर एएसआई औरंगजेब के राजतिलक वाले स्थान का नवीनीकरण करता है तो डीएसजीपीसी इसे किसी भी कीमत नहीं होने देगी। सिरसा ने चेतावनी दी कि अगर सरकार ने इस योजना को नहीं रोका तो सिख समाज के लोग इसका विरोध करेंगे।

सिरसा ने शनिवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि औरंगज़ेब के राजतिलक वाली जगह शालीमार बाग का सरकारी पैसे से नवीनीकरण किया जा रहा है। यह पैसा जनता का है, जिसे वह टैक्स के माध्यम से अदा करती है। औरंगजेब एक क्रूर शासक था। 

सिरसा ने कहा कि अपनी विरासत को संभाल कर रखना हर सरकार का कर्तव्य होता है, पर औरंगजेब हमारी विरासत का हिस्सा नहीं है। इसलिए हम इसका विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में  जब सिख समुदाय गुरु तेग बहादुर साहिब का 400वां प्रकाश पर्व मनाने जा रहा है। खुद, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी इसकी जानकारी संसद के संयुक्त सत्र के दौरान अपने अभिभाषण में दी थी। उसके बाद भी देश में औरंगजेब का महिमामंडन किया जा रहा है, यह हम हरगिज बर्दाश्त नहीं करेंगे।

यह खबर भी पढ़ें:​ केजरीवाल सरकार के शपथ ग्रहण की तैयारियां जोरों पर, पीएम सहित दिल्ली की जनता को न्योता

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended