संजीवनी टुडे

आरटीआई संशोधन विधेयक पारदर्शिता आंदोलन पर हमला : तारीगामी

संजीवनी टुडे 27-07-2019 21:36:59

मोदी सरकार सूचना आयोग पर नजर रखकर इसकी स्वतंत्रता को खत्म करना चाहती है।


श्रीनगर। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के वरिष्ठ नेता मोहम्मद यूसुफ तारीगामी ने शनिवार को सूचना का अधिकार संशोधन विधेयक-2019 संसद से पारित होने का विरोध करते हुए कहा कि यह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की आरटीआई कार्यकर्ताओं के पारदर्शिता आंदोलन पर हमला है। उन्होंने कहा कि आरटीआई विधेयक में संशोधन लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला है और मोदी सरकार सूचना आयोग पर नजर रखकर इसकी स्वतंत्रता को खत्म करना चाहती है।

श्री तारीगामी ने कहा ,“आरटीआई के माध्यम से नागरिक रक्षा मंत्रालय, नोटबंदी, बेरोजगारी के आंकड़े, रिजर्व बैंक और अन्य कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर सवाल उठा सकते हैं। हमारे लिए कई आरटीआई कार्यकर्ताओं ने इस क्रांतिकारी लोकतांत्रिक अधिकार को बनाए रखने के लिए अपनी जान भी दी है, लेकिन इसे अब मोदी सरकार द्वारा तबाह किया जा रहा है।”

गौरतलब है कि हाल ही में आरटाआई संशोधन विधेयक संसद की दोनों सदनों से पारित हो गया। इस विधेयक में प्रावधान किया गया है कि मुख्य सूचना आयुक्त एवं सूचना आयुक्तों तथा राज्य मुख्य सूचना आयुक्त एवं राज्य सूचना आयुक्तों के वेतन, भत्ते और सेवा के अन्य निबंधन एवं शर्ते केंद्र सरकार द्वारा तय किए जाएं।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now