संजीवनी टुडे

आशुतोष टंडन ने किया वाराणसी में रिकॉर्ड विकास कार्यों का दावा

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 19-09-2019 02:29:00

केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा खरबों रुपये से वाराणसी में रिकॉर्ड विकास के कार्य कराये गये हैं।


वाराणसी। उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने बुधवार को यहां दावा किया कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा खरबों रुपये से वाराणसी में रिकॉर्ड विकास के कार्य कराये गये हैं। वाराणसी के जिला प्रभारी मंत्री टंडन ने यहां संवादाताओं के समक्ष राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में गत ढ़ाई वर्षों के में विकास एवं जनहित की ऐतिहासिक रिकॉर्ड काम हुए हैं।

यह खबर भी पढ़ें: ​विधवा बहन ने भाभी को मायके भेजने से नाराज भाई ने भांजे पर ऐसे उतारा गुस्सा, मामा गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी के कार्यकाल के दौरान बनारस में 22949.36 करोड़ रुपये से अधिक धनराशि के विकास एवं सामाजिक सहायता के कार्य हुए हैं। इनमें से 8882.44 करोड़ रुपए की 475 प्रमुख परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं तथा 7975.86 करोड़ रुपए की 222 प्रमुख परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। इसके अतिरिक्त 6091.06 करोड़ रुपए की विकास एवं लाभार्थीपरक सामाजिक सहायता के कार्य हुए हैं।

टंडन ने गत ढाई साल के कार्यकाल में पूर्ण हो चुकीं प्रमुख परियोजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य सेवाओं में उत्कृष्ट स्तर के ढ़ांचागत विकास के लिए 121598.17 लाख रुपये धनराशि के कार्य पूरे हो चुके हैं। बीएचयू एवं लहरतारा में कैंसर इंस्टिट्यूट, पांडेयपुर में राजकीय चिकित्सालय, बीएचयू में सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के निर्माण कार्य पूर्ण हुए हैं।

उन्होंने कहा कि नगर में आधारभूत सुविधाओं, सौंदर्यीकरण के लिए 45550.86 लाख रुपये के विकास कार्य पूर्ण किए जा चुके हैं, जिसमें नगर के हेरिटेज स्थलों का विकास, सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, शहर के पार्कों, तालाबों एवं कुंडों के सुंदरीकरण, काशी इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर, स्मार्ट सिटी के तहत अनेक कार्य पूर्ण हुए। शिक्षा क्षेत्र में 2877.72 लाख के विकास कार्य पूर्ण कराये हैं। जिसमें स्कूलों के उच्चीकरण, टेक्निकल कॉलेजों एवं महिला कालेजों की स्थापना के कार्य शामिल हैं।

टंडन ने बताया कि पेयजल एवं जल निकासी में 155479.25 लाख रुपए के कार्य हुए। जिसमें विभिन्न ग्रामीण पाइप पेयजल योजनाएं, सीवरेज एवं पंपिंग स्टेशनों के निर्माण, स्टॉर्म वॉटर ड्रेनेज, शहर की पेयजल आपूर्ति आदि कार्य हुए। सड़क एवं सेतु निर्माण में 207071.47 लाख रुपये के कार्य हो चुके हैं, जिसमें बाबतपुर-वाराणसी फोरलेन, वाराणसी रिंग रोड, भोजूबीर-सिंधोरा मार्ग, रामनगर मार्ग पर गंगा सेतु, सोता सेतु, बलुआघाट सेतु, मंडुवाडीह पर रेल ऊपरगामी सेतु आदि कार्य हुए हैं। विद्युत आपूर्ति एवं सुधार में वाराणसी में 164731.91 लाख रुपये के विकास कार्य पूर्ण हो चुके हैं। जिसमें दीनदयाल ग्राम ज्योति योजनाए विद्युत केंद्रों के निर्माण, पुराने एवं जर्जर विद्युत तारों के बदलने, ग्रामीण मजरों के विद्युतीकरण, विद्युत तारों के अंडरग्राउंड करने आदि कार्य हुए।

बिजली व्यवस्था की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि आईपीडीएस से पुरानी काशी को तारों के मक्कड़जालों से मुक्ति मिली। उद्योग एवं रोजगार के लिए 65503.91 लाख रुपये के विकास कार्य कराये गये हैं। पेरिशेबल कार्गा सेंटर का निर्माण, अटल इंक्यूवेशन सेंटर, अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान केंद्र, 4 लाख लीटर की डेयरी फ्रूड प्रोडक्ट प्रोजेक्ट निर्माण आदि कार्य हुए।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended