संजीवनी टुडे

ट्रक में ले जा रहे एक करोड़ रुपए की मिराज तम्बाकू जब्त, GST की जांच करेगी एंटीविजन विंग

संजीवनी टुडे 23-05-2020 21:43:50

वाजा पुलिस दॅवारा परचूनी के सामान के साथ ट्रक में ले जा रहे एक करोड़ रुपए की मिराज तम्बाकू जब्त किए जाने के मामले की जांच अब अजमेर जीएसटी विभाग की एंटीविजन विंग टीम करेगी।


अजमेर। जवाजा पुलिस दॅवारा परचूनी के सामान के साथ ट्रक में ले जा रहे एक करोड़ रुपए की मिराज तम्बाकू जब्त किए जाने के मामले की जांच अब अजमेर जीएसटी विभाग की एंटीविजन विंग टीम करेगी। जांच की सूचना से अजमेर और नागौर संभाग के गुटखा कारोबारियों में खलबली मच गई है। जांच की सूचना जीएसटी विभाग द्वारा जवाजा पुलिस को दे दी गई है। 

जीएसटी विभाग अजमेर के ज्वांइट कमिश्नर रामनिवास शर्मा ने बताया कि जांच पड़ताल के लिए जवाजा पुलिस को सूचित कर दिया गया है। पुलिस से आग्रह किया है कि एंटीविजन की जांच से पहले माल को नहीं छोड़ा जाए। शर्मा ने बताया कि जब्ती के बाद ही पुलिस ने जीएसटी विभाग को सूचित कर दिया था। विभाग अब ये देखेगा कि जब्त तम्बाकू का बिल है या नहीं तथा जीएसटी के भुगतान के बारे में भी पता लगाया जाएगा। 

लॉकडाउन में एक करोड़ रुपए की कीमत की मिराज तम्बाकू की सुपुर्दगी कहां से ली गई और ट्रक के जरिए माल कहां जा रहा था इस बात की एंटीविजन विस्तृत जांच पड़ताल करेगा तब ही माल को छोडऩे पर विचार होगा। ज्ञात हो कि गत 16 मई को जब जवाजा पुलिस ने परचूनी के सामान के साथ एक करोड़ रुपए की मिराज तम्बाकू जब्त की तब ट्रक चालक के पास तम्बाकू के बिल आदि कागजात नहीं थे। पुलिस पूछताछ में ट्रक चालक योगेन्द्र सिंह योगी ने बताया था कि मिराज तम्बाकू की सुपुर्दगी उदयपुर के नाथद्वारा की एक फैक्ट्र्री से ली गई है।

जीएसटी के ज्वांइट कमिश्नर शर्मा ने बताया कि अजमेर और नागौर के गुटखा तम्बाकू और पान मसाला कारोबारियों की फर्मों का सर्वे करवाया जा रहा है। अजमेर शहर की दो तथा किशनगढ़ व डीडवाना की एक-एक फर्म के कागजातों की जांच का काम शनिवार को जारी रहा। मालिक के उपलब्ध नहीं होने पर किशनगढ़ की फर्म के प्रतिष्ठान सीज कर दिए गए थे। सीज की कार्यवाही से फर्म का मालिक उपस्थित हो गया, इसलिए जांच का काम जारी है। 

शर्मा ने बताया कि जांच में गुटखा तम्बाकू व पान मसाला की खरीद और बिक्री का पता लगाया जा रहा है। बाजार में तम्बाकू उत्पादों की कालाबाजारी की खबरों को देखते हुए यह जानकारी ली जा रही है कि संबंधित फर्मों ने लॉकडाउन से पहले कितना माल खरीदा था और अब इन फर्मों के गोदाम में कितनी मात्रा में माल पड़ा है। यानि स्टॉक का वेरीफिकेशन भी किया जाएगा।

यह खबर भी पढ़े: चक्रवाती तूफान अम्फन के कारण बंगाल में NDRF की 38 टीमें तैनात, अबतक 86 लोगों की हो चुकी मौत

यह खबर भी पढ़े: VIDEO: सड़क पर 4 घंटे तड़पता रहा बुजुर्ग मरीज, नहीं पहुंच सकी एम्बुलेंस, तड़प-तड़प कर तोड़ दिया दम

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended