संजीवनी टुडे

...और हुई किसानों की जीत

संजीवनी टुडे 28-06-2019 18:17:12

आखिरकार किसानों का आंदोलन रंग लाया और नेशनल हाइवे नंबर 152-डी के लिए अधिगृहित की गई जमीन के बढ़े हुए मुआवजे की मांग को सरकार द्वारा माना गया है।


जींद। आखिरकार किसानों का आंदोलन रंग लाया और नेशनल हाइवे नंबर 152-डी के लिए अधिगृहित की गई जमीन के बढ़े हुए मुआवजे की मांग को सरकार द्वारा माना गया है। जिसके चलते किसानों द्वारा रेलवे ट्रैक को बाधित किए जाने का आह्वान फिलहाल टल गया है। शुक्रवार को जुलाना के सात गांवों के किसानों की बढ़े हुए मुआवजे की मांग को लेकर जिला राजस्व अधिकारी संजय बिश्रोई तथा डीसी डाॅ. आदित्य दहिया के साथ किसान संघर्ष समिति के नेताओं की बात हुई। यह बातचीत सकारात्मक रही और सोमवार को जुलाना के इन सात गांवों के अलावा जींद जिले के उन 15 अन्य गांवों के किसानों की जमीनों के बढ़े हुए मुआवजे की मांग को मान लिया गया। इस बढ़े हुए मुआवजे की घोषणा डीसी डाॅ. आदित्य दहिया द्वारा सोमवार को की जाएगी।   

शुक्रवार को जुलाना के किलाजफरगढ़, नंदगढ़, लिजवाना कलां, लिजवाना खुर्द, बुढ़ाखेड़ा लाठर समेत उन सभी सात गांवों के किसानों की जिला राजस्व अधिकारी संजय बिश्रोई के यहां सुनवाई हुई, जिनकी जमीन का अधिग्रहण नेशनल हाईवे के निर्माण के लिए हुआ है। सुनवाई के दौरान किसान नेता रमेश दलाल भी मौजूद रहे। जिला राजस्व अधिकारी संजय बिश्रोई ने कहा कि सोमवार को जींद जिले के उन 15 अन्य गांवों के किसानों की भी बढ़े हुए मुआवजे के मामले में सुनवाई होगी, जिनकी जमीन का अधिग्रहण किया गया है। किसान नेता रमेश दलाल और उनके सहयोगियों ने डीसी डाॅ. आदित्य दहिया से उनके कार्यालय में मुलाकात की। यहां बातचीत में यह तय हुआ कि किसानों को उनकी अधिगृहित हुई जमीन का बढ़ा हुआ मुआवजा कितना होगा, इसकी घोषणा सोमवार को कर दी जाएगी। डीसी की इस बात से किसान नेता संतुष्ट नजर आए। किसान प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के बाद डीसी डा. आदित्य दहिया ने कहा कि किसानों और प्रशासन के बीच इस बात पर सहमति बन गई है कि सोमवार को बढ़ा हुआ मुआवजा घोषित कर दिया जाएगा।  

किसान नेता रमेश दलाल ने बताया कि डीसी के साथ किसानों की बातचीत सफल रही है। डीसी द्वारा आश्वासन दिया गया है कि सोमवार को बढ़े हुए मुआवजे की राशि की घोषणा कर दी जाएगी। धरनास्थल पर किसान सुरेंद्र की हृदय गति से मौत होने के बाद दलाल ने प्रशासन से मांग की कि सिरसा खेड़ी गांव के किसान सुरेंद्र की मौत के बाद उसके परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाए। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended