संजीवनी टुडे

आनंदीबेन पटेल ने विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों से की चर्चा

संजीवनी टुडे 22-02-2019 16:57:30


अनुपपुर। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शुक्रवार को अपने अमरकंटक प्रवास के दौरान उज्जवला योजना, सौभाग्य योजना, जनधन योजना, प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना से चर्चा की। उज्जवला योजना के हितग्राहियों ने बताया कि उज्जवला योजना के अंतर्गत उन्हें 03 साल पूर्व गैस सिलेण्डर और चूल्हा उपलब्ध कराया जाता था। इससे समय की बचत हो रही है और घर में धुआं नहीं होता।

इसी प्रकार सौभाग्य योजना के हितग्रहियों ने राज्यपाल को बताया कि पहले गांव में बिजली नहीं होने से घर में रोशनी के लिये चिमनी का उपयोग करते थे। गांव मे बिजली आने से अब उनके घर रोशन हो चुके घर में बच्चों को पढऩे लिखने में सुविधा हो रही है। चर्चा के दौरान राज्यपाल ने कहा कि गांव मे बिजली आने से छोटे-छोटे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। गांव में बिजली आने के साथ-साथ रोजगार भी आएंगे। इसके लिये गांव के युवाओं को छोटे-छोटे व्यवसायों के रोजगार मूलक प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जाए। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

राज्यपाल ने कहा कि शासन द्वारा मुद्रा योजना स्थापित किया गया है। इस योजना का लाभ युवाओं को रोजगार स्थापित करने के लिये दिलाया जाए। प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना के हितग्रहियों से चर्चा के दौरान राज्यपाल ने बताया कि यह योजना अतिमहत्वपूर्ण है। इसके अंतर्गत परिवार के अन्य सदस्यों का भी बीमा होना चाहिये। विपत्ति के समय इस योजना के अंतर्गत काफी कम प्रीमियम पर 02 लाख रुपये की राशि मिलती है। यह एक अभिनव योजना है इसका लाभ पात्र हितग्राही को मिलना चाहिये। 

राज्यपाल ने चर्चा के दौरान बताया कि श्रमिकों के लिये नई बीमा योजना प्रांरभ की गई है, जिसमें यह प्रावधान किया गया है कि प्रतिमाह 100 रुपये की राशि श्रमिकों को जमा करने पर शासन द्वारा 100 रुपये की राशि अपनी ओर से जमा की जाती है। इस योजना में श्रमिकों को 60 वर्ष की आयु पूर्ण करने पर 03 हजार रुपये की पेंशन राशि देने का प्रावधान है। इस योजना का लाभ भी क्षेत्र के श्रमिकों को मिलना चाहिये। किसानों से चर्चा के दौरान राज्यपाल ने प्रधानमंत्री किसान निधि की भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान निधि के तहत दो हेक्टयर से कम भूमि के स्वामी लघु सीमांत कृषकों को सरकार प्रति वर्ष 06 हजार रुपये की राशि मुहैया करायेगी। इसके लिये 25 फरवरी 2019 से ऑनलाईन पंजीयन होगा। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

चर्चा के दौरान आजीविका परियोजना द्वारा संचालित स्वसहायता समूह की सदस्य द्रोपदी चर्मकार ने बताया कि उन्होंने पति के सेन्ट्रिग व्यवसाय के लिये 1 लाख रुपये का ऋण लिया था। व्यवसाय अच्छा चलने से जूते-चप्पल की भी दुकान राजेन्द्रग्राम में प्रांरभ चालू कर दी, जिससे उन्हें अच्छी आय प्राप्त हो रही है। इसी प्रकार ग्राम बेहपुरी की विमला मानिकपुरी ने राज्यपाल को बताया कि उन्होंने सेन्ट्रिग कार्य के लिये 1 लाख रुपये का ऋण लिया था, जिससे उसे अच्छी आय अर्जित हो रही है। मैकल वुमन पोल्ट्री प्रोड्यूसर कम्पनी महिला सदस्यों ने बताया कि कम्पनी से जुड़ी महिला स्वसहायता समूह द्वारा मुर्गी पालन का व्यवसाय किया जा रहा है, जिसमें 1200 महिलायें जुड़ी हुई हैं। मुर्गी पालन व्यवसाय का वार्षिक टर्न ओव्हर 24 करोड़ रहा है, जिसमें 1 करोड़ 70 लाख का शुद्ध मुनाफा हुआ है। जिस पर राज्यपाल द्वारा महिला स्वसहायता समूह के सदस्यों के प्रयासों की सराहना की गई। 
चर्चा के दौरान राज्यपाल ने कहा कि महिलाओं की आत्मनिर्भरता से परिवार सशक्त होता है। उन्होंने सभी महिलाओं को ऐसे ही प्रयास करते रहने एवं अन्य महिलाओं को प्रेरित कर आर्थिक गतिविधियों में अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये कहा। इस अवसर पर कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर एवं प्रभारी सीईओ जिला पंचायत बालागुरू के. समेत विभिन्न योजनाओं के हितग्राही एवं संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
 

More From state

Trending Now
Recommended