संजीवनी टुडे

किसानों की बड़ी कांफ्रेंस में सभी पार्टियां होंगी शामिल, मंडीकरण को लेकर होगी कांफ्रेंस

संजीवनी टुडे 15-02-2020 16:24:54

फसलों के मंडीकरण को तोड़ने की आशंकाओं के चलते भारतीय किसान यूनियन राजेवाल आने वाली 17 फरवरी को चंडीगढ़ में एक सर्व पार्टी कॉन्फ्रेंस का आयोजन करने जा रही है।


चंडीगढ़। फसलों के मंडीकरण को तोड़ने की आशंकाओं के चलते भारतीय किसान यूनियन राजेवाल आने वाली 17 फरवरी को चंडीगढ़ में एक सर्व पार्टी कॉन्फ्रेंस का आयोजन करने जा रही है। इस कॉन्फ्रेंस में इस गंभीर मुद्दे पर एक राय बनाने के बाद पंजाब विधानसभा के स्पीकर से मुलाकात की जाएगी, ताकि 20 फरवरी से शुरू होने जा रहे पंजाब के बजट सत्र में एक दिन कृषि पर चर्चा को दिया जा सके। 17 फरवरी को चंडीगढ़ के किसान भवन में की जाने वाली सर्व -पार्टी कॉन्फ्रेंस में किसान यूनियन के अतिरिक्त लगभग सभी पार्टियों ने शामिल होने की सहमति दी है। 

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़, अकाली दल की तरफ से वरिष्ठ नेता बलविंदर सिंह भूंदड़, आम आदमी पार्टी की तरफ से विधायक व नेता ,लोक इंसाफ पार्टी के विधायक और अन्य पार्टियों के सांसद व विधायकों के शामिल होने की संभावना प्रकट की गई है। आज भारतीय किसान यूनियन राजेवाल द्वारा चंडीगढ़ के किसान भवन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। जिसमें यूनियन के अध्यक्ष बलवीर सिंह राजेवाल ओंकार सिंह अगोल महासचिव और गुलजार सिंह कोषाध्यक्ष ने कहा कि भारत सरकार , पंजाब सरकार पर मंडीकरण तोड़ने के लिए दबाव डाल रही है। 

वास्तव में केंद्र की सरकार एमएसपी तय करने का कार्य और फसलों की खरीद बंद करके कृषि को कारपोरेट घरानों के हवाले करना चाहती है। अगर ऐसा हो गया तो पंजाब में 130 लाख टन गेहूं और 180 लाख टन धान का कोई ग्राहक नहीं रहेगा। अगर सरकारें मंडीकरण के इस कार्य से बाहर चली जाती हैं तो इन फसलों के दाम आधे से भी कम रह जाएंगे , जिससे किसान तो डूबेगा ही बल्कि संपूर्ण बाजार भी तहस-नहस हो जाएगा। इसी मुद्दे पर चर्चा करने के लिए यूनियन ने पंजाब की सभी राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से चर्चा करने के बाद 17 फरवरी। को कॉन्फ्रेंस करने का निर्णय किया है। 

किसान नेताओं ने पुष्टि की के विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, विधायकों, सांसदों ने इस कॉन्फ्रेंस में आने को स्वीकृति दी है। परंतु इस कॉन्फ्रेंस में पंजाब में सक्रिय अन्य किसान संगठनों को नहीं बुलाया गया। इसके साथ ही भारतीय किसान यूनियन राजेवाल ने बताया कि भारतीय किसान यूनियन 24 फरवरी को चंडीगढ़ में इसी मुद्दे को लेकर एक बड़ी रैली करेगी और देश के राष्ट्रपति को पंजाब के राज्यपाल के मार्फत एक ज्ञापन दिया जाएगा।

यह खबर भी पढ़े: चीन: 1523 हुई कोरोनावायरस से मरना वालों का संख्या, 66000 से अधिक पीड़ित

यह खबर भी पढ़े: हैती के अनाथ आश्रम में आग लगने से 15 बच्चों की मौत

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended