संजीवनी टुडे

महानगर के बाद अब गांवों और तहसीलों की ओर पहुंच रहा कोरोना

संजीवनी टुडे 29-05-2020 11:26:04

कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। महानगर में दहशत फैलाने के बाद अब कोविड-19 ने जनपद के गांवों और तहसील की ओर रुख कर लिया है।


झांसी। कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। महानगर में दहशत फैलाने के बाद अब कोविड-19 ने जनपद के गांवों और तहसील की ओर रुख कर लिया है। यह बात वाकई चैकाने वाली है। रात करीब 12 बजे आई रिपोर्ट के अनुसार जनपद में दो कोरोना संक्रमित और पाए गए हैं। इनमें से एक क्वारेंटाइन सेण्टर का सफाई कर्मी है जबकि दूसरा जालौन में तैनात बताया जा रहा है। अब जनपद में कोरोना संक्रमितों की संख्या 37 जा पहुंची है। वर्तमान में कोरोना के कुल एक्टिव केस छह हैं।

कोरोना की विभीषिका से इस समय पूरा विश्व जूझ रहा है। देश में भी हालात ठीक नहीं हैं। लेकिन जो चैकाने वाली बात है वह यह है कि अब महानगरों में दहशत फैलाने के बाद कोरोना वाॅयरस ने गांवों और जनपद की तहसीलों की ओर भी रुख कर लिया है। गुरुवार की देर रात करीब 12 बजे जिलाधिकारी ने कोविड-सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद बताया कि 115 लोगो के कोविड-19 के नमूने जांच के लिए गए थे। इनमें से दो लोगों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। इसमें एक मरीज जालौन जिले में फार्मासिस्ट था जबकि दूसरा मरीज जो मऊरानीपुर कस्बे के पुरवारीपुरा का निवासी है,क्वारेंटाइन सेण्टर में सफाईकर्मी था। 

गुरुवार को आई रिपोर्ट में इन दोनों को कोरोना वाॅयरस के संक्रमण की पुष्टि की गई है। इसके साथ ही जिले में कोरोना मरीजो की कुल संख्या 37 पर जा पहुंची है। इनमें से 5 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 26 संक्रमितों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। वर्तमान में एक्टिव कोरोना मरीजो की संख्या 6 हो गई है। सभी को आईसोलेशन वार्ड में रखा गया है। साथ ही सुबह तड़के ही मऊरानीपुर निवासी सफाईकर्मी के परिजनों को भी स्वास्थ विभाग की टीम ने जांच के लिए बुला लिया है। मोहल्ले को सील करने की तैयारी है। प्रशासन उन सभी लोगों की कुण्डली खंगालने में जुट गया है जो इन दोनों के संपर्क में आए थे।
 
दस दिन तक कोरोना मुक्त रहने के बाद जनपद में फिर से बढ़ रहे मरीज
जिले में कोरोना संक्रमित पहला मरीज 27 अप्रैल को ओरछा गेट निवासी 59 वर्षीय महिला के रुप में मिला था। जो अपने घुटनों का उपचार कराने मेडिकल काॅलेज गई थी। उसके बाद से यह संख्या 37 तक जा पहुंची है। 12 मई को सारे मरीजों के ठीक होने के बाद 10 दिनों तक जिला कोरोना मुक्त रहा था।

इसके बाद गुरुग्राम से लौटै युवक के रुप में 22 मई को कोरोना फिर से जिले के रानीपुर पालिका के ग्राम देवरी सिंहपुरा में लौट आया। उसके बाद से चिरगांव और अब कस्बा मऊरानीपुर का भी आज सफाईकर्मी पाॅजिटिव पाया गया है। कोरोना मुक्त हुए जिले में अब तक 7 मरीज फिर से पाॅजिटिव आ चुके हैं। इनमें से एक की मौत हो चुकी है। 

यह खबर भी पढ़े: साबुन किसी भी रंग का हो लेकिन उसका झाग हमेशा सफेद होता है, ऐसा क्यों?, जानने के लिए यहां करें क्लिक

यह खबर भी पढ़े: कोरोना महामारी ने भारतीय समाज को सिखा दी ये पांच अच्छी बातें!

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended