संजीवनी टुडे

राजस्थान/ चुनाव परिणामों के बाद इस बीजेपी नेता ने कांग्रेस पर लगाया ये गंभीर आरोप, मचा हड़कंप

संजीवनी टुडे 19-11-2019 21:12:22

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि आज नगर निकाय के चुनाव परिणामों ने यह साबित कर दिया कि सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करके भी कांग्रेस अपने पक्ष में राजस्थान की जनता को नहीं कर पाई।



नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि आज नगर निकाय के चुनाव परिणामों ने यह साबित कर दिया कि सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करके भी कांग्रेस अपने पक्ष में राजस्थान की जनता को नहीं कर पाई। डाॅ. पूनियां ने चुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि निकाय चुनाव में जनादेश किसी भी सूरत में कांग्रेस के पक्ष में नहीं रहा है। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण उदयपुर, बीकानेर और भरतपुर नगर निगम में जनता ने भाजपा को आशीर्वाद दिया है। 

यह खबर भी पढ़ें:​ राजस्थान/ कांग्रेस प्रत्याशी दोनों मां-बेटे ने निकाय चुनाव में लहराया परचम, यहां बीजेपी-कांग्रेस दोनों को जनता ने बुरी तरह नकारा, विस्तृत में पढ़िए!

जनता ने जो जनादेश हमें दिया है, वो हम विनम्रता के साथ स्वीकार करते है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुये कहा कि जब से सरकार बनी है, तब से येनकेन प्रकारेण नगर निकाय का चुनाव जीतने के लिये हर हथकण्डे अपना रहीं थी। सबसे पहले अप्रत्यक्ष चुनाव को प्रत्यक्ष किया और फिर जो परिसीमन 2021 में होना था, उसको अपने तरीके से 2019 में करवा लिया और अपनी सुविधा अनुसार वार्ड बनवा लिये। उन्होंने कहा कि किसी भी आपत्ति पर सुनवाई नहीं हुई।

उसके बाद खुद सरकार ने घोषणा की वह प्रत्यक्ष चुनाव करवायेंगे, लेकिन प्रत्यक्ष चुनाव में कांग्रेस को लोकसभा चुनाव के बाद अपनी हार नजर आने लगी, राजस्थान में बढ़ता अपराध, किसानों की कर्ज माफी, बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता जैसे जरूरी मुद्दे, सरकार की विफलता बनकर हावी हो जाते, इसलिये सरकार ने अपने ही फैसले को बदल दिया। 

यह खबर भी पढ़ें:​ राजस्थान/ यहां बीजेपी-कांग्रेस दोनों खाने चित, कुल 35 में से भाजपा 3 तो कांग्रेस 2 पर सिमटी, बाकी पर निर्दलीय परचम लहराया!

यहीं नहीं कांग्रेस ने वार्डों का पुनर्सीमांकन जाति एवं धर्म के नाम पर करके निकायों को अपने पक्ष में करने का षड्यंत्र रचा, जिसमें पूर्ण रूप से सफल नहीं हुई। पूनियां ने कहा कि पुनर्सीमांकन के बाद छोटे-छोटे वार्ड बनाकर सरकारी मशीनरी को अपने विधायकों और मंत्रियों को साम, दाम, दण्ड, भेद का इस्तेमाल करके कांग्रेस को चुनाव जिताने के अभियान में लगा दिया और उसका परिणाम भी सामने आया कि जहां मतदाताओं की संख्या अधिक थी, वहां कांग्रेस पार्टी चुनाव हार गई और जहां कम मतदाता थे, वहां पर इन्होंने सरकार के प्रभाव का इस्तेमाल करके चुनाव जीतने का प्रयास किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended