संजीवनी टुडे

शाह के रोड शो पर हमले के बाद गुजरातियों को पुलिस ने होटल से निकाला

संजीवनी टुडे 15-05-2019 22:30:15


कोलकाता। कोलकाता में मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में तृणमूल कार्यकर्ताओं के हमले के बाद राज्य के विभिन्न हिस्सों में रह रहे गुजरातियों पर भी पुलिस ने सितम ढाना शुरू कर दिया है। सूत्रों के अनुसार अमित शाह के रोड पर मंगलवार रात हमले के बाद उत्तर 24 परगना के बारासात में एक होटल में ठहरे गुजरातियों को पुलिस ने जबरदस्ती बाहर निकाला।

हालांकि इस दौरान गुजरातियों के साथ इस समुदाय के लोगों की तीखी झड़प भी हुई लेकिन सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए पुलिस ने उन्हें जगह छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया है। पुलिस ने चुनाव से पहले होने वाली रुटीन जांच के दौरान कार्यकर्ताओं से होटल छोड़ने के लिए कहा है । इसके पीछे का एक कारण यह भी था कि तृणमूल उम्मीदवार काकोली घोष दस्तीदार ने पुलिस को बताया कि चुनाव के अंतिम दौर से पहले कुछ बाहरी भाजपा समर्थकों के ठहरे होने का शक है, जिनके पास कैश और हथियार है। 

होटल से निकाले जाने के बाद भाजपा कार्यकर्ता स्थानीय नेता तुहीन मंडल के घर चले गए। मंडल के घर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं की गाडिय़ों का जमावड़ा लग गया। इसी बीच कुछ वाहनों में तोडफ़ोड़ की शिकायत के बीच पुलिस तुहीन के घर पहुंची लेकिन पूरे घर में अंधेरा छाया हुआ था। पुलिस के बार-बार फोन लगाए जाने के बाद भी किसी ने जब जवाब नहीं दिया तो पुलिस ग्रिल गेट तोड़कर घर में दाखिल हुई और मेन गेट खुलवाकर बत्तियां जलवा दी। इस दौरान पुलिस को घर में भाजपा नेता प्रदीप बनर्जी समेत कुछ लोग मिले। प्रदीप ने पुलिस से कहा कि वे कुछ ही देर में पार्टी मीटिंग लेने वाले थे। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

उन्होंने बताया कि बैठक में आरएसएस नेता और बंगाल भाजपा के सह-प्रभारी अरविंद मेनन ने भी भाग लिया था। वहीं कुछ स्थानीय लोग, जिनमें ज्यादातर तृणमूल कांग्रेस समर्थक थे, उन्होंने भाजपा नेता के घर के बाहर जमा होकर विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस को सुरक्षा लिहाज से भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस स्टेशन ले जाना पड़ा। बाद में पार्टी नेता मुकुल रॉय के पुलिस स्टेशन पहुंचने के बाद देर रात 1.30 बजे पुलिस ने सभी को छोड़ दिया। इससे पहले मंगलवार शाम भाजपा नेता शिशिर बाजोरिया ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि पश्चिम बंगाल पुलिस के अधिकारियों की ओर से उन्हें सूचित किया गया है कि रैली के बाद कोई भी गुजरातवासी बारासात इलाके में नहीं रुक सकता है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

दूसरी तरफ मुकुल राय ने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया है कि वे कार में अपने साथ कैश लेकर चलती हैं। हालांकि जिन लोगों को होटल से निकाला गया है वह कहां गए हैं इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है इसलिए उनमें से किसी की भी प्रतिक्रिया नहीं मिली है। 

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended