संजीवनी टुडे

चिकित्सा स्टाफ से मकान खाली कराया तो होगी कार्रवाई, सरकार ने जारी किए आदेश

संजीवनी टुडे 25-03-2020 22:22:57

प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम में जुटे चिकित्सकों और चिकित्सा से जुडे अन्य लोगों से किराए का मकान खाली करने का दवाब डालने पर राज्य सरकार मकान मालिक के खिलाफ कार्रवाई करेगी।


जयपुर। प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम में जुटे चिकित्सकों और चिकित्सा से जुडे अन्य लोगों से किराए का मकान खाली करने का दवाब डालने पर राज्य सरकार मकान मालिक के खिलाफ कार्रवाई करेगी। इसके लिए चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बुधवार को आदेश जारी किए हैं।

आदेश में बताया गया है कि प्रदेश में कुछ स्थानों से शिकायत आई है कि कोरोना वायरस के इलाज में जुटे लोगों पर मकान मालिक अपना किराए का मकान खाली करने का दवाब डाल रहे हैं। ऐसे में सरकार डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ  और पैरामेडिकल स्टाफ  से जबरदस्ती कोई मकान मालिक अपना आवास खाली करवाता है या बदसलूकी करता है तो उसके खिलाफ राजस्थान एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1957 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसमें सभी जिला कलेक्टर, पुलिस आयुक्त, एसपी, नगर परिषद आयुक्त को कार्रवाई करने के लिए अधिकृत किया गया है साथ ही चिकित्सकों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर लेंगे एक्शन
अब आदेश निकालने के बाद यदि कोई व्यक्ति चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ के साथ बदसलूकी करता है तो संबंधित जिलों के कलेक्टर उसके खिलाफ एक्शन ले सकेंगे। जिला कलेक्टर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ  केस दर्ज कर कार्रवाई कर सकेंगे और यदि कोई मकान मालिक जबरदस्ती अपना आवास खाली करवाता है तो उसे भी जेल जाना होगा।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के चलते प्रदेश मे अनेक स्थानों पर मकान मालिक ने डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ  को आवास खाली करने के लिए कहा है। इसके विरोध में चिकित्सकों और नर्सिंग स्टाफ ने विरोध प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद सरकार ने आदेश निकाल कर स्थिति को स्पष्ट कर दिया है। आदेश में स्पष्ट कहा गया है यदि कोई मकान मालिक जबरदस्ती डॉक्टर से मकान खाली करवाता है तो उसके खिलाफ  कार्रवाई की जाएगी।

यह खबर भी पढ़े: छात्रा को कोरोना वायरस कहकर कपड़ों पर थूकने वाला आरोपि‍त गिरफ्तार

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended