संजीवनी टुडे

स्वर्ण जयंती समारोह में अकादमी करेगी दो सौ लेखकों का सम्मान

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 12-09-2019 16:19:13

राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी द्वार हिन्दी दिवस पर 14 सितम्बर को आयोजित होने वाले स्वर्ण जयंती समारोह में पुस्तक लेखन से जुड़े 200 लेखको को सम्मानित किया जायेगा।


जयपुर। राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी द्वार हिन्दी दिवस पर 14 सितम्बर को आयोजित होने वाले स्वर्ण जयंती समारोह में पुस्तक लेखन से जुड़े 200 लेखको को सम्मानित किया जायेगा।

राजस्थान के उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने आज यहां पत्रकारो को बताया कि बिड़ला सभागार में होने वाले समारोह के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होंगे। उन्होंने बताया कि अकादमी इनके अलावा तीन लेखक, जिनकी पुस्तकों के 15 संस्करण प्रकाशित हो चुके हैं उन्हें विशिष्ट प्रज्ञा पुरस्कार से सम्मानित करेगी। प्रज्ञा पुरस्कार के योग्य तीन लेखक डाॅ. हरिमोहन सक्सेना, डाॅ. रीता प्रताप एवं ममता चतुर्वेदी प्रत्येक को 51,000/- रूपये की राशि का चैक देकर सम्मानित किया जाएगा।

यह खबर भी पढ़ें: पाकिस्तान में महंगाई की भयंकर मार, पेट्रोल- डीजल से भी ज्यादा हुए दूध के दाम, जानें दाम

उन्होंने बताया कि अकादमी द्वारा स्वतंत्रता संग्राम के अमर पुरोधा श्रृंखला’ के अंतर्गत 2006 से 2019 के मध्य दिवंगत हुए 143 स्वतंत्रता सेनानियों पर मोनोग्राफ प्रकाशित किए जाएंगे। अकादमी इस पुस्तक माला के वृहद खंड प्रकाशित करेगी ताकि नई पीढ़ी को देश के आजादी आंदोलन में राजस्थान के वीरों के बारे में गहराई से जानकारी मिल सके।

भाटी ने बताया कि राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी देश का पहला ऐसा सरकारी प्रकाशन संस्थान है जिसने एक वर्ष में रिकाॅर्ड 3.71 करोड़ मूल्य की पुस्तकों का विक्रय किया है। गत वित्तीय वर्ष में अकादमी ने यह रिकाॅर्ड बिक्री कर देशभर में अपनी अलग पहचान बनायी है। उन्होंने कहा कि यही नहीं अकादमी द्वारा अपने लेखकों को रिकाॅर्ड 59 लाख रूपये राॅयल्टी का भुगतान किया गया है।

उन्होंने बताया कि अकादमी ने जुलाई 2019 तक 661 मौलिक, 90 अनुदित एवं 1214 पुस्तकों के संस्करण प्रकाशित किए हैं। यह देश की पहली अकादमी है जिसमें लेखको को ऑनलाईन राॅयल्टी का भुगतान ही नहीं किया जाता बल्कि लेखक जब चाहे अपनी पुस्तकों की बिक्री और अपनी राॅयल्टी के बारे में जानकारी अकादमी की वेबसाईट से प्राप्त कर सकता है।

यह खबर भी पढ़ें: पुस्तक प्रेमियों के लिए खुशखबरी: दिल्ली प्रगति मैदान में 25 वें पुस्तक मेले का आगाज, प्रवेश नि:शुल्क

भाटी ने बताया कि अकादमी वर्ष 1969 से निरन्तर 50 वर्षो से उच्च शिक्षा की मानक पुस्तकों का प्रकाशन करती आ रही है। साथ ही विभिन्न संगोष्ठियों.कार्यशालाओं के आयोजन द्वारा मानक शब्दावलियों पर विशद चर्चा, पुस्तक मेलों में पुस्तकों के प्रस्तुतीकरण आदि द्वारा अनेक गतिविधियों को साकार रूप देती आ रही है।

अकादमी द्वारा प्रकाशित पुस्तकें राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों की पाठ्यक्रम का भाग हैं। इसके अतिरिक्त मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखण्ड, झारखण्ड, बिहार, गुजरात और महाराष्ट्र आदि राज्यों में भी अकादमी की पुस्तकों की प्रतिष्ठा है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended