संजीवनी टुडे

62 साल की लेडी डॉन ने सुपारी लेकर कराए 117 मर्डर, जानिए पूरा मामला

संजीवनी टुडे 19-08-2018 15:01:19


नई दिल्ली। दिल्ली के संगम विहार में आतंक का पर्याय बन चुकी 62 वर्षीय लेडी डॉन बशीरन उर्फ मम्मी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बशीरन 13 साल से फरार थी।

संगम विहार पुलिस की जांच में सामने आया है कि इस गैंग के सभी सदस्यों पर 117 हत्या, हत्या के प्रयास, चोरी झपटमारी, एर्म्स एक्ट, लूट और झगड़े के केस दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है और अब लेडी डॉन पर पुलिस मकोका लगाने की तैयारी कर रही है।


पुलिस उपायुक्त रोमिल बानिया के अनुसार, नवंबर 2017 में संगम विहार थाना पुलिस को जंगलों में एक शव मिला था। शव की पहचान अमेठी निवासी मिराज के रूप में हुई थी। जनवरी में पुलिस ने इस मामले में एक नाबालिग को पकड़ा, जिसने पूरे मामले का खुलासा कर दिया। नाबालिग ने बताया कि उसके साथ वारदात को अंजाम देने में आकाश, नीरज और विकास साथ थे।


पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी कर पूछताछ शुरू की तो सामने आया कि इस हत्या के लिए लेडी डॉन बशीरन ने 60 हजार रुपये की सुपारी ली थी। मिराज मुन्नी बेगम का सौतेला भाई था, जिसने उसकी हत्या के लिए सुपारी दी थी। पुलिस ने बशीरन की तलाश शुरू की, लेकिन वह अपने घर से फरार थी।

 

एक स्थानीय निवासी की मानें तो बशीरन का आतंक ऐसा है कि इलाके में रहने और सरकारी पानी का इस्तेमाल करने के लिए भी लोग उसे रुपये देते हैं। इलाके में जल निगम की पानी की पाइप लाइनों पर बशीरन का कब्जा है। वह लोगों से घंटों के हिसाब से पैसे वसूलती है। बशीरन के गिरोह ने कई सरकारी बोरवेल पर भी कब्जे कर रखे हैं। इनसे पानी भरने के लिए 700 से 1000 रुपये तक वसूले जाते हैं।


बशीरन उर्फ मम्मी का जन्म उत्तर प्रदेश के आगरा में हुआ था। उसकी शादी 17 साल की उम्र में धौलपुर के मलखान से हुई थी। मलखान काम की तलाश में दिल्ली के गोविंदपुरी आया, लेकिन काम नहीं मिला। 90 के दशक में मलखान और बशीरन परिवार के साथ संगम विहार आकर बस गए। बशीरन के 12 बच्चे हैं, जिनमें आठ बेटे हैं, इन्हीं के दम पर उसने अपराध का साम्राज्य खड़ा किया।

संगम विहार से शुक्रवार देर रात पुलिस के हत्थे चढ़ी कुख्यात लेडी डॉन बशीरन ने बीते 20 साल में सैकड़ों नाबालिगों के सहारे जुर्म की दुनिया में अपना साम्राज्य खड़ा किया था। हत्या, मारपीट और धमकी देने जैसे अपराधों के लिए उसकी क्राइम रेट लिस्ट भी तय थी। हत्या के 60 हजार, हाथ-पैर तुड़वाने के लिए 40 हजार और धमकी देने के लिए वह दस हजार रुपये लेती थी।

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

must watch & subscribe

बशीरन 90 के दशक में परिवार के साथ संगम विहार आकर रहने लगी थी, यहां उसने अवैध शराब बेचनी शुरू कर दी, उसने अपने नाबालिग बेटों को भी इस धंधे में शामिल कर लिया। यही नहीं, उसने इलाके के 8 से 12 साल के बच्चों को भी चरस और गांजे की आदत डालकर अपने गिरोह में शामिल कर लिया। नाबालिग उसके एक इशारे पर वारदात कर देते थे।

sanjeevni app

More From state

Trending Now
Recommended