संजीवनी टुडे

राजस्थान में मिले कोरोना से संक्रमित 5 रोगी, अब तक कुल 43 पीडि़त

संजीवनी टुडे 27-03-2020 09:28:51

राजस्थान में इस वैश्विक महामारी के गुरुवार तक 43 संक्रमित मरीज नामांकित हो चुके हैं।


जयपुर। पूरी दुनिया में खौफ का पर्याय बन चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से राजस्थान भी अछूता नहीं है। राजस्थान में इस वैश्विक महामारी के गुरुवार तक 43 संक्रमित मरीज नामांकित हो चुके हैं। प्रदेश में गुरुवार को 5 नए संक्रमित रोगियों की पहचान हुई है। 

इनमें कोरोना संक्रमण के लिहाज से सर्वाधिक संवेदनशील भीलवाड़ा जिले में 2, झुंझुनूं, जयपुर तथा जोधपुर जिले में 1-1 रोगी की पहचान की गई है। दूसरी तरफ, कोरोना संक्रमित 1 वृद्ध की भीलवाड़ा में मौत हो गई। हालांकि, वृद्ध की मौत कोरोना संक्रमण से नहीं मानी गई है। इससे पहले बुधवार को एक ही दिन में प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 6 नए मामले सामने आए थे। इनमें 4 मामले भीलवाड़ा और एक जोधपुर तथा 1 झुंझुनूं जिले का था। 

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से गुरुवार देर शाम जारी की गई रिपोर्ट में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढऩे की पुष्टि की गई है। विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह के अनुसार राज्य में कोरोना संक्रमण के बुधवार देर शाम तक भीलवाड़ा, जोधपुर व झुंझुनूं जिले में मिले 6 नए मरीजों के बाद आंकड़ा बढक़र 38 हो गया। प्रदेश में गुरुवार को जयपुर में 45 वर्षीय पुरुष, झुंझुनूं में 35 वर्षीय युवक, भीलवाड़ा में एक वृद्ध के पुत्र तथा पोती एवं जोधपुर में तुर्की से आया एक युवक कोरोना पीडि़त पाया गया है। 

उन्होंने बताया कि अब तक भीलवाड़ा जिले में 19, झुंझुनूं में 6, जयपुर में 9, पाली में 1, प्रतापगढ़ में 2, सीकर में 1 और जोधपुर जिले के 5 मरीजों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। सभी मरीजों को आइसोलेट कर उपचार दिया जा रहा है। प्रदेश में गुरुवार तक कुल 2 हजार 325 सैम्पल्स की जांच की गई है, जिनमें से 43 सैम्पल्स पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि 2 हजार 192 सैम्पल्स नेगेटिव मिले है। अब तक 90 सैम्पल्स प्रक्रियाधीन है।

भीलवाड़ा में वृद्ध की मौत
कोरोना संक्रमण के लिहाज से प्रदेश में सर्वाधिक संवेदनशील भीलवाड़ा जिले में गुरुवार को कोरोना संक्रमित एक वृद्ध की मौत हो गई। हालांकि, वृद्ध की मौत का कारण कोरोना संक्रमण को नहीं माना जा रहा है। भीलवाड़ा के सब्जी मंडी निवासी 73 वर्षीय नारायण सिंह पूर्व से ही क्रोनिक किडनी डिजीज व डायबिटिज के रोगी थे। वे हीमोडायलिसिस करवा रहे थे। इस साल 3 मार्च को लकवे की वजह से कोमा में जाने के कारण उन्हें भीलवाड़ा के निजी अस्पताल बृजेश बांगड़ में भर्ती करवाया गया था। 

वे 3 से 11 मार्च तक यहां भर्ती रहे और सेहत ठीक होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था। बृजेश बांगड़ अस्पताल में कोरोना संक्रमित चिकित्सक मिलने के बाद सर्वे के दौरान नारायण सिंह के भी नमूने लिए गए थे, जो कोविड-19 पॉजिटिव मिले। गुरुवार को उनकी मृत्यु हो गई। वे कोविड-19 प्रसार से पहले ही किडनी फेलियर व ब्रेन स्टोक के मरीज थे, इसलिए उनकी मौत को कोरोना से नहीं माना जा रहा है।

यह खबर भी पढ़े: Corona Virus: न्यूजीलैंड क्रिकेटर ने सेल्फ आइसोलेशन के दौरान बनाया Kovid-19 पर गाना, देखिए VIDEO

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

लॉकडाउन से गरीबो की परेशानी में मदद के लिए अपना सहयोग दे सकते है Paytm no. 8094811115  बैंक अकाउंट 27950200001157 ifs code BARB0JAISAN संजीवनी चैरिटबल ट्रस्ट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended