संजीवनी टुडे

आपातकाल में मैनें अपना पुत्र खोया : श्रीगोपाल व्यास

संजीवनी टुडे 26-06-2019 14:56:11

श्रीगोपाल व्यास ने भी आपातकाल में पुत्र खोया है।


रायपुर। लोकतंत्र सेनानी और राज्यसभा के पूर्व सदस्य श्रीगोपाल व्यास को आजीवन यह पीड़ा सताती रहेगी कि आपातकाल के दौरान उनके  जेल जाने पर उनका  इकलौता पुत्र मानसिक विकलांगता का शिकार हो गया था जिसका  कुछ दिन पूर्व ही निधन हो गया है । 

 श्रीगोपाल व्यास ने मंगलवार को हिन्दुस्थान समाचार से खास वार्ता में अपनी इस पीड़ा को बयाँ किया । उन्होंने  कहा " आपातकाल के दौरान मेरे जेल जाने से इकलौता पुत्र मानसिक विकलांगता का शिकार हो गया था जो कुछ दिन पूर्व ही इस दुनिया को छोड़कर चला गया। "

जेल जाने के पूर्व का अनुभव साझा करते हुए उन्होंने कहा कि, पहले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं और नेताओं को देशद्रोही कहकर उपहास किया जाता था । 25 जून, 1975 को देश में आपातकाल घोषित कर दिया गया, जिसके बाद जनसंघ, समाजवादी पार्टी, संगठन कांग्रेस, सर्वोदयवादी आन्दोलन और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कई कार्यकर्ता गिरफ्तार कर लिये गये। लाखों लोगों को बिना मुकदमा चलाए, कारण बताए जेलों में बंद किया गया। इस दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ सहित 26 संस्थाओं को प्रतिबंधित किया गया। राजधानी में शांताराम जी, सच्चिदानंद उपासने, शारदा प्रसाद त्रिपाठी, विवेक गौनतवाले, अशोक सेठ, वीरेन्द्र पाण्डेय, सुभाष देशपांडे, अप्पा खरे, मोहन खरे सहित अन्य लोगों ने आपातकाल का दंश झेला है। 

उल्लेखनीय है कि, श्रीगोपाल व्यास का जन्म नागौर राजस्थान में 15 फरवरी 1932 को हुआ था। इनकी शिक्षा बी.ई. आनर्स और एलएलबी, जेबीपी रविशंकर विश्वविद्यालय रायपुर से हुई है। 1945 से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े । 1957 में भिलाई स्टील प्लांट में इंजीनियर रहे। 1975 से 1977 तक मीसाबंदी के रूप में रायपुर केन्द्रीय जेल में बंद रहे। 25 जून 1975 को आपातकाल की घोषणा के बाद सभी राजनीतिक विरोधियों को जेल में डाल दिया गया, इसमें श्री गोपाल व्यास भी शामिल रहे। इसी काल में 21 अगस्त 1976 से 20 मार्च 1977 तक उन्होंने रायपुर जेल में उपन्यास 'सत्यमेव जयते लिखा। 1984 में नौकरी छोड़कर संघ प्रचारक का दायित्व मिला। 

वापस आने पर ​तीन साल वकालत की । वे  2002 से 2006 तक विश्व हिन्दू परिषद के संयुक्त महामंत्री रहे। इसी काल में केन्या, दक्षिण अफ्रीका, अमरीका, केनेडा, इंग्लैंड, नार्वे, हालैंड, नेपाल, थाईलैंड, श्रीलंका, सिंगापुर, मलेशिया, त्रिनिदाद, मॉरिशस की  यात्राएं की। 2006 से 2012 तक छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सदस्य रहे हैं।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188 

More From state

Trending Now
Recommended