संजीवनी टुडे

गैरहाजिर मिले मंडलीय चिकित्सालय के 30 डॉक्टर व कर्मचारी, एक दिन का वेतन रुका

संजीवनी टुडे 14-06-2019 16:32:46

नवागत जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने शुक्रवार को मंडलीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। इस निरीक्षण में करीब 30 डॉक्टर जहां गैरहाजिर पाये गये, वहीं कई कर्मचारी भी अनुपस्थित मिले


आजमगढ़। नवागत जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने शुक्रवार को मंडलीय चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। इस निरीक्षण में करीब 30 डॉक्टर जहां गैरहाजिर पाये गये, वहीं कई कर्मचारी भी अनुपस्थित मिले। जिस पर जिलाधिकारी ने प्रमुख चिकित्साधिकारी से नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी अनुपस्थित चिकित्सकों और कर्मचारियों को वेतन रोकने का आदेश दिया। वहीं प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक को अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिया। 

जिलाधिकारी सुबह औचक निरीक्षण के लिए जैसे ही मंडलीय अस्पताल पहुंचे डॉक्टरों और कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया। निरीक्षण के दौरान डॉ. ओम प्रकाश, डॉ. आरआर श्रीवास्तव, डॉ.  एमए सिद्दीकी, डॉ.  सुभाष सिंह, डॉ.  वीके श्रीवास्तव, डॉ. शिव आरती यादव, डॉ.  एसके विमल, डॉ.  पूनम कुमारी, डॉ.  आशुतोष शाह, डॉ.  राघवेन्द्र सिंह, डॉ.  संतोष यादव, डॉ.  राकेश कुमार, डॉ.  मुकेश जायसवाल, डॉ.  बालचन्द, डॉ. निरंकार सिंह अनुपस्थित पाये गये।
 
इसी प्रकार पोषण पुनर्वास केन्द्र में मीना देवी कुक, कंचन एसएन, वन्दना एसएन, रिचा एफडी, डॉ. कासिक असरार चिकित्साधिकारी, एआरटी अनुभाग से अजय कुमार, अनीशा राय, विनोद प्रसाद, अमित यादव, दिनेश कुमार, पैरामेडिकल स्टॉफ से शिवा मिश्रा, मंगीता, नीलकमल, सोनब्रत गौतम,  कुसुम कुमारी, ई-हास्पिटल अनुभाग से अंकिता राय, प्रतिक्षा सिंह, सुप्रिया श्रीवास्तव, रविकान्त, सूरज चौहान, सनोज कुमार, संतोष यादव, गुड्डु प्रजापति, कृष्णकान्त, कैलाश सिंह, वीर सिंह, विनीत सिंह, दिलीप कुमार, डीडी हास्पिटल पैरामेडिकल स्टॉफ अनुभाग से ओम प्रकाश यादव, माया सिंह, एसके मालवीय, तन्नू यादव, अविनाश कुमार श्रीवास्तव, नवनीत कुमार चौबे एवं एनसीडी सेल से डॉ. दिनेश कुमार यादव, डॉ. वीपी सिंह अनुपस्थित पाये गये।

निरीक्षण के दौरान डॉ. चन्द्रहास नेत्र सर्जन, डॉ. मुकेश कुमार, डॉ. राजनाथ, डॉ. एके कुशवाहा, डॉ. संतोष गुप्ता, डॉ. रईस अहमद, डॉ. एजे अजीज, डॉ. एसके यादव, डॉ. वीसी प्रसाद अपने-अपने ओपीडी कक्ष से तथा सत्यप्रकाश सिंह व ओम प्रकाश सिंह एक्स-रे टेक्नीशियन अनुपस्थित पाये गये। इसके अतिरिक्त कृष्णा डायग्नोस्टिक जिसे अल्ट्रासाउण्ड का कार्य ठेके पर है। इस कक्ष में ताला बन्द पाया गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि जिला चिकित्सालय में इतनी संख्या में चिकित्सकों एवं कर्मचारियों की अनुपस्थिति से स्पष्ट है कि प्रमुख चिकित्साधिकारी का अधीनस्थों पर नियंत्रण शिथिल है। यह स्थिति संतोषजनक नहीं है। इसलिए इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक आजमगढ़ को अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही अनुपस्थित पाये गये सभी चिकित्सकों व कर्मचारियों के आज की तिथि के वेतन भुगतान पर रोक लगाते हुए प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक आजमगढ़ को निर्देशित किया।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

More From state

Trending Now
Recommended