संजीवनी टुडे

शिमला-कालका रेलवे ट्रैक पर दौड़ा 114 साल पुराना स्टीम इंजन

संजीवनी टुडे 21-02-2020 19:16:03

स्टीम इंजन रेलवे स्टेशन शिमला से कैथलीघाट तक चलाया गया। इस सुहाने सफर की शुरुआत सुबह 11ः35 से शिमला रेलवे स्टेशन से हुई।


शिमला। विश्व धरोहर शिमला-कालका रेलवे ट्रैक पर एक बार फिर 114 साल पुराना स्टीम इंजन दौड़ा। शुक्रवार को इस स्टीम इंजन में लगे तीन कोचों में यूके के 29 पयर्टकों ने सफर किया और शिमला की हसीन वादियों का नाजारा लिया।

स्टीम इंजन रेलवे स्टेशन शिमला से कैथलीघाट तक चलाया गया। इस सुहाने सफर की शुरुआत सुबह 11ः35 से शिमला रेलवे स्टेशन से हुई। इस दौरान विदेशी पर्यटकों ने स्टीम इंजन के धुंऐ की गुबारों और छुक-छुक की आवाज के बीच शिमला की वादियों का नाजारा लिया। 

बिट्रिश काल के 100 साल पुराने शिमला कालका रेलवे लाइन पर सफर करते हुए पर्यटक बहुत खुश दिखाई दिए। इस दौरान उन्होंने अपने विचार भी साझा किए। युके के पर्यटकों ने बताया कि वह भाप इंजन का सफर करने के लिए विशेष तौर से शिमला आए हैं। उनकी कई साल से यह इच्छा थी कि शिमला में बिट्रिश काल में चलने वाले भाप इंजन पर सफर करें। उन्होंने कहा कि वह यह देखना चाहते थे कि यह भाप इंजन उस समय भी कैसे चलता था। स्टीम इंजन का सफर कर वह बहुत खुश हैं। 

उन्होंने बताया कि इससे पहले वह कालका से शिमला भी डीजल वाली ट्रेन में सफर कर शिमला आए थे। स्टीम इंजन के चलाए जाने पर शिमला रेलवे स्टेशन अधीक्षक प्रींस सेठी ने बताया कि यूकेके 29 पर्यटकों का एक दल शिमला आया हुआ है। उन्होंने स्टीम इंजन में सफर करने की इच्छा जाहिर की थी। जिस पर स्टीम इंजन कैथलीघाट तक चलाया गया है। पर्यटकों ने इसे 1 लाख 24 हजार रुपये फीस अदाकर बुक करवाया है। स्टीम इंजन तीन कोच लगाए थे। जिनमें सभी सुविधाएं दी गई थी।

यह खबर भी पढ़ें: CAA रैली के दौरान पाकिस्तान समर्थित नारे लगाने वाली छात्रा को भेजा जेल

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended