संजीवनी टुडे

देशभर के विभिन्न खिलाड़ियों के साक्षात्काराें पर आधारित है ये किताब, अंतर्मन को समझाने....

संजीवनी टुडे 11-11-2019 21:48:11

वरिष्ठ लेखक एवं शिक्षकविद् विजयन बाला ने देशभर के विभिन्न खिलाड़ियों के साक्षात्काराें पर आधारित किताब ‘इंडियन स्पोर्ट्स’ के जरिये खेल और खिलाड़ियों के अंतर्मन को समझाने का अनूठा प्रयास किया है।


नई दिल्ली। वरिष्ठ लेखक एवं शिक्षकविद् विजयन बाला ने देशभर के विभिन्न खिलाड़ियों के साक्षात्काराें पर आधारित किताब ‘इंडियन स्पोर्ट्स’ के जरिये खेल और खिलाड़ियों के अंतर्मन को समझाने का अनूठा प्रयास किया है। भारतीय खेलों और खिलाड़ियों पर वर्ष 1974 से ही शोध और किताबें लिख रहे विजयन की पुस्तक इंडियन स्पोर्ट्स अंग्रेजी में लिखी हुई किताब है। 

यह भी पढ़े: यूपीसीए ने दिव्यांग क्रिकेट प्रतिभाओं को निखारने की चलाई अनूठी ये पहल

इस किताब में पैरा एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, स्नूकर, कुश्ती, बैडमिंटन, टेनिस, तैराकी, क्रिकेट, टेबल टेनिस जैसे लगभग सभी महत्वपूर्ण खेलों से जुड़े पूर्व और वर्तमान खिलाड़ियों के साक्षात्कार शामिल हैं। पैरा एथलीट देवेंद्र झांझरिया, तीरंदाज़ लिम्बा राम, एथलीट मिल्खा सिंह, पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर, राहुल द्रविड़, चेतन चौहान, महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना, फुटबालर बाइचुंग भूटिया, भारत की ओलंपिक पदक विजेता बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल, पीवी सिंधू के अलावा पहलवान योगेश्वर दत्त, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, लिएंडर पेस, रमेश कृष्णन सहित कई खिलाड़ियों के साक्षात्कार इस किताब में शामिल किये गये हैं।

पूर्व ओलंपिक पदक निशानेबाज़ अभिनव बिंद्रा ने पुस्तक की भूमिका लिखते हुये कहा,“ मानव जीवन में खेल उसके अस्तित्व के लिये बहुत अहम है और कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के पदक जीतने से लेकर अब तक हम देश के लिये कई उपलब्धियां हासिल कर रहे हैं। विजयन की यह किताब खिलाड़ियों की भावी योजनाओं के साथ साथ उनके सफर की जानकारियां भी उपलब्ध कराती है जो बेहद खास है।”

मुख्य रूप से शिक्षकविद् रहे और डॉन बॉस्को, मार्डन स्कूल, आर्मी पब्लिक स्कूल में पढ़ा चुके विजयन ने बताया कि इस किताब में उन्होंने खिलाड़ियों के संघर्ष से लेकर उनके लक्ष्य तक पहुंचने और देश की ओलंपिक तैयारियों और खेलों के आधारभूत ढांचे से संबंधित अहम पहलुओं पर रौशनी डालने का प्रयास किया है। विजयन इससे पहले वर्ष 1974 में इंडियन टेस्ट क्रिकेट स्टेटिस्टिकल डाइजेस्ट, स्पोर्ट्स क्विज(2016) और इंडियन स्पोर्ट्स कन्वर्सेशन एंड रिफ्लेक्शन(2018) में लिख चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended