संजीवनी टुडे

PCB के फैसले से बर्बाद हुआ ये पाक क्रिकेटर, कराची की सड़कों पर पेट भरने.....

संजीवनी टुडे 14-10-2019 21:22:32

पाकिस्तान में घरेलू क्रिकेट का पुनर्गठन किया जा रहा है, लेकिन इस कारण पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपने कई उभरते हुए योग्य खिलाड़ियों के करियर को बर्बाद कर दिया है।


नई दिल्ली। पाकिस्तान में घरेलू क्रिकेट का पुनर्गठन किया जा रहा है, लेकिन इस कारण पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपने कई उभरते हुए योग्य खिलाड़ियों के करियर को बर्बाद कर दिया है। दरअसल, कई क्रिकेटर्स का करियर लगभग खत्म हो गया, इसी का शिकार फजल सुभान बने, जिनका नेशनल टीम में आना लगभग तय हो गया था, लेकिन अब उन्हें परिवार चलाने के लिए पिक अप चलानी पड़ रही है। फजल का कहना है कि अपना पासपोर्ट और सब कुछ तैयार कर लिया था, लेकिन इसके बाद वह भी नहीं जानते कि क्या हुआ, जो टीम में उन्हें शामिल नहीं किया गया।

यह भी पढ़े: ये 5 विराट रेकॉर्ड कोहली के लिए तोड़ना मुश्किल, जानिए कुछ महत्वपूर्ण....

फजल उस समय सभी की नजरों में आए थे, जब उन्हाेंने एक मैच में शोएब मलिक  की टीम के खिलाफ 207 रन की पारी खेली थी। टी20 में उनका स्ट्राइक रेट 131 से ऊपर का था और उनका नाम नेशनल टीम के लिए चल रहा था, बोर्ड से फोन तक आ चुका था। बोर्ड को विभागीय क्रिकेट कल्चर को खत्म करने के बाद आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा ‌था, इसी का शिकार फजल सुभान बने। कराची की सड़कों पर फजल का पिक अप चलाते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे पहले वह लाख रुपये के करीब कमाते थे और अब 30 से 35 हजार रुपये में गुजारा करना पड़ रहा है।

फजल ने कहा कि वह घर चलाने के लिए किराए के लिए पिक अप चलाते हैं, जो सीजनल काम है, कभी काफी ज्यादा काम होता है तो कभी कभार 10- 10 दिनों तक काम नहीं होता। फजल ने कहा कि उन्होंने देश का प्रतिनिधित्व करने लिए कड़ी मेहनत की थी। विभागीय क्रिकेट के दौरान उन्हें लाख रुपये की सैलरी मिलती थी, लेकिन जब से विभाग क्रिकेट बंद हुआ है, तभी से उनकी कमाई लाख रुपये से गिरकर 30 से 35 हजार रुपये तक आ गई है जो जीवनयापन के लिए काफी नहीं है। 

फजल हबीब बैंक लिमिटेड की ओर से खेलते थे, फजल ने आखिरी मैच पिछले साल सितंबर में खेला था। फर्स्ट क्लास मैच में उनका औसत 33 के करीब था, उन्होंने कहा कि उनके जैसे सैकड़ों क्रिकेटर आज ऐसी ही जिंदगी जी रहे हैं। कुछ बाइक चला रहे हैं और तो कुछ पिक अप चला है और कुछ लोग कंपनी के धक्के खा रहे हैं। 2014 में कायदे ए आजम ट्रॉफी गोल्ड लीग में फजल कराची डॉलफिंस की ओर से शोएब मलिक की अगुआई वाली टीम जरई ताराकटी बैंक लिमिटेड के खिलाफ उतरे थे और 207 रन बनाए थे। हालांकि यह मैच ड्रॉ रहा था।

फजल ने कहा कि वह पाकिस्तान अंडर-19 टीम और पाकिस्तान ए की ओर से भी खेले हैं। 42 फर्स्ट क्लास मैच में उन्होंने अपनी टीम का प्रतिनिधित्व किया और दो साल तक शीर्ष पांच में रहे, यही नहीं फजल ने लाहौर में भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज भी खेली थी। उस समय फजल जिस फॉर्म में चल रहे थे, उनके नेशनल टीम में कदम रखने की चर्चाएं तेज होने लगी थीं। फजल ने अपना पासपोर्ट और सब कुछ तैयार कर लिया था, लेकिन इसके बाद वह भी नहीं जानते कि क्या हुआ, जो टीम में उन्हें शामिल नहीं किया गया। खैर फजल के संघर्ष ने कुछ पाकिस्तानी क्रिकेटर्स का ध्यान भी अपनी ओर खींचा है। 

मात्र 13.21 लाख में अपने ख़ुद के मकान का  सपना करें साकार, सांगानेर जयपुर में बना हुआ मकान कॉल - 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended